अधिक पके केले के फायदे: केले का छिलका काला हो तो उसे फेंके नहीं, इसके फायदे जानकर हैरान रह जाएंगे आप

c3231f0989bb67b67ce8356dfb0a206c

ज्यादा पके केले के फायदे:  अक्सर ऐसा होता है कि जब कोई केला ज्यादा पका होता है तो उसके छिलके का रंग काला या भूरा हो जाता है. ऐसे में ज्यादातर लोग इसे खराब और सड़ा समझकर फेंक देते हैं।

  सेब के बाद केला ही एक ऐसा फल है जिसे अगर रोजाना खाया जाए तो यह सेहत के लिए अच्छा माना जाता है। क्‍योंकि केला विटामिन, फाइबर, आयरन, कैल्शियम और पोटैशियम जैसे पोषक तत्‍वों से भरपूर होता है। ज्यादातर लोग हरा यानी कच्चा केला पकाकर खाते हैं। जब पीले रंग का केला सीधा खाया जाए। अक्सर ऐसा होता है कि जब केला ज्यादा पक जाता है तो उसके छिलके का रंग काला या भूरा हो जाता है। ऐसे में ज्यादातर लोग इसे खराब और सड़ा हुआ समझकर कूड़ेदान में फेंक देते हैं। हालांकि, क्या आप जानते हैं कि ज्यादा पके केले को फेंकने की बजाय खाने से आपको कितने फायदे हो सकते हैं?

  • दरअसल, अधिक पके केले में अधिक ट्रिप्टोफैन होता है, जो तनाव और चिंता को कम करने में मदद करता है। साथ ही काली या भूरी त्वचा वाले केले एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं, जो आपको कई बीमारियों से निजात दिला सकते हैं। आइए जानें कि आपको अधिक पके केले क्यों खाने चाहिए।
  • ज्यादा पका हुआ केला खाने के फायदे
  •  कोशिकाओं को नुकसान से बचाता है: अधिक पके केले एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं। काली और भूरी चमड़ी वाले केले ज्यादा खाने से रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में काफी मदद मिलती है । यह कई बीमारियों से भी बचा सकता है। इतना ही नहीं यह कोशिकाओं को किसी भी तरह के नुकसान से बचाता है 
  •  दिल के लिए फायदेमंद ज्यादा पका हुआ केला दिल की सेहत के लिए भी फायदेमंद होता है। यह पोटेशियम और मैग्नीशियम जैसे खनिजों से भरपूर होता है जो रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद करता है। ज्यादा पका हुआ केला खाने से भी कोलेस्ट्रॉल कम होता है। यह दिल से जुड़ी बीमारियों के खतरे से बचाने का काम करता है।
  •  पचने में आसान: अधिक पके केले में मौजूद स्टार्च मुक्त शर्करा में परिवर्तित हो जाता है। इस वजह से ये आसानी से पच जाते हैं। इसे खाने से शरीर को तुरंत एनर्जी भी मिलती है। कमजोर पाचन तंत्र वाले लोगों को अधिक पके केले खाने चाहिए।
  •  कैंसर से बचाता है: केले के काले या भूरे छिलके में एक विशेष प्रकार का पदार्थ होता है जिसे ट्यूमर नेक्रोसिस फैक्टर कहा जाता है। यह कैंसर कोशिकाओं और अन्य खतरनाक कोशिकाओं के विकास को रोकने के लिए काम करता है।
  •  मांसपेशियों में दर्द से राहत: अगर आप बार-बार मांसपेशियों में दर्द से परेशान रहते हैं तो आपको ज्यादा पके केले खाने शुरू कर देने चाहिए। क्‍योंकि यह पोटेशियम से भरपूर होता है जो मांसपेशियों के दर्द और ऐंठन से राहत दिलाने का काम करता है।

Leave a Comment