पाकिस्तान में विदेश मंत्री ने न्यायपालिका को बताया राजनीतिक, पीटीआई हो सकती है देश में बैन

international nws

पाकिस्तान के विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो ने पीटीआई संघटन पर कड़ी नाराजगी जताई है। उन्होनें कहा कि इन राजनीतिक आतंकियों से कैसे बात की जा सकती है। उन्होनें कहा कि हम केवल उन्हीं के साथ बातचीत कर सकते हैं जो आतंकवाद की निंदा करें और अपने आप को इन राजनीतिक आतंकियों से अलग करें।’ बता दे कि पूर्व पीएम इमरान खान की गिरफ्तारी के बाद पूरे देश में पीटीआई समर्थकों ने विरोध प्रदर्शन किया था।

न्यायपालिका हो रही राजनीतिक- विदेश मंत्री

वहीं विदेश मंत्री भुट्टो ने न्यायपालिका की भी आलोचना की और कहा कि देश में न्यायपालिका जरूरत से ज्यादा राजनीतिक हो गई है। एक जनसभा के दौरान पाकिस्तान पीपल्स पार्टी के नेता बिलावल भुट्टो ने कहा कि ‘जब हम देश में लोकतंत्र लागू लाते हैं तो न्यायपालिका जरूरत से ज्यादा राजनीतिक हो जाती है। वहीं जब देश में तानाशाही रहती है तो न्यायपालिका शांत रहती है। अब एक बार फिर न्यायपालिका जरूरत से ज्यादा राजनीतिक हो रही है।’ बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने इमरान खान को उनके खिलाफ चल रहे कई मामलों में जमानत दे दी है। यही वजह है कि भुट्टो ने न्यायपालिका को निशाने पर लिया। 

पीटीआई को करना होगा बैन- गृह मंत्री

वहीं पाकिस्तान के गृह मंत्री राणा सनाउल्लाह ने भी अब पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ पार्टी पर प्रतिबंध लगाने की बात कही है। उनका कहना है कि अब देश में पीटीआई को बैन करने के अलावा कोई और विकल्प नहीं रह गया है। उन्होंने कहा कि यह जरूरी है कि ऐसे हथियारबंद संगठनों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। उन्होनें कहा कि पीटीआई चीफ का उद्देश्य सिर्फ देश में अराजकता फैलाना है।