भारत में दौड़ेगी और नए 2 बड़े शहरो से वन्दे भारत एक्सप्रेस जानिए कौन से होंगे शहर

भारत में दौड़ेगी और नए 2 बड़े शहरो से वन्दे भारत एक्सप्रेस

भारत में दौड़ेगी और नए 2 बड़े शहरो से वन्दे भारत एक्सप्रेस जानिए कौन से होंगे शहर,प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी तीर्थ स्थलों की यात्रा की सुविधा के लिए दो वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनों का शुभारंभ करेंगे, एक सिकंदराबाद से तिरुपति तक और दूसरी चेन्नई से कोयम्बटूर तक। वंदे भारत ट्रेन सेवा ने देश के चार सबसे प्रतिष्ठित तीर्थ स्थलों को जोड़ा है और इसका उद्देश्य यात्रा के समय को कम करना और भक्तों के लिए सुविधाओं में सुधार करना है।


भारत में दौड़ेगी और नए 2 बड़े शहरो से वन्दे भारत एक्सप्रेस जानिए कौन से होंगे शहर

भारत में दौड़ेगी और नए 2 बड़े शहरो से वन्दे भारत एक्सप्रेस जानिए कौन से होंगे शहर


केंद्र सरकार तीर्थ स्थलों की यात्रा को आसान बनाने के लिए रोडवेज में सुधार पर भी काम कर रही है। पर्यटन में वृद्धि से स्थानीय लोगों को लाभ होने और होटल, हस्तशिल्प और खाद्य सेवा जैसे उद्योगों को बढ़ावा मिलने की उम्मीद है।

images 42

नयी वन्दे भारत के बारे में

  1. – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को दो वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनों को हरी झंडी दिखाएंगे
    – सिकंदराबाद-तिरुपति वंदे भारत एक्सप्रेस को सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन से हरी झंडी दिखाई जाएगी
    – चेन्नई-कोयंबटूर वंदे भारत एक्सप्रेस को एमजीआर चेन्नई सेंट्रल रेलवे स्टेशन से हरी झंडी दिखाई जाएगी
    – वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन सेवा ने तीर्थ स्थलों की यात्रा को आसान बना दिया है
  2. श्रद्धालु बेहतर सुविधाओं के साथ कम समय में तीर्थ स्थलों तक पहुंच पा रहे हैं
    – वंदे भारत ट्रेन सेवा 13 रूटों पर शुरू हो चुकी है और देश के चार सबसे प्रतिष्ठित तीर्थ स्थलों को आपस में जोड़ चुकी है
    – केंद्र सरकार तीर्थ स्थलों की यात्रा को आसान बनाने के लिए रोडवेज में सुधार के लिए तेजी से काम कर रही है.
  3. – पीएम नरेंद्र मोदी दक्षिण में पवित्र स्थलों की यात्रा को सुगम बनाने के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग-744 से जुड़ी एक परियोजना का शिलान्यास करेंगे
    – बेहतर कनेक्टिविटी से स्थानीय लोगों को फायदा होगा और होटल, हैंडीक्राफ्ट और फूड सर्विस जैसे उद्योगों को बढ़ावा मिलेगा
    – पर्यटन में वृद्धि से रोजगार के अवसर बढ़ेंगे और स्थानीय अर्थव्यवस्थाओं को मदद मिलेगी।

Read Also: गुलाब की खेती से कर सकते छप्पर फाड़ कमाई जानिए कैसे की जाये खेती