ट्रैवल डेस्टिनेशन: दिलचस्प है 500 से ज्यादा मंदिरों वाले इस शहर की कहानी, प्राचीन काल से जुड़ा है इतिहास, यूनेस्को की लिस्ट में भी है नाम

fff75e7b10bb7dd29c9e52e6e979e5a1

Temple City Of India: भारत में कई ऐसे शहर हैं, जो अपनी खासियतों के लिए जाने जाते हैं। उन्हें कोई न कोई नाम दिया गया है। ऐसा ही एक शहर भारत के मंदिरों के शहर के रूप में जाना जाता है। यहां एक-दो नहीं बल्कि 500 ​​से ज्यादा मंदिर हैं। इसी वजह से इसे टेंपल सिटी कहा जाता है। हम बात कर रहे हैं ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर की। यहां कई प्रसिद्ध मंदिर हैं। यहां कई ऐसे मंदिर भी हैं, जिनका निर्माण 6वीं और 11वीं शताब्दी में हुआ था। शहर की संस्कृति दुनियाभर में अपनी पहचान बनाती है।

सीएक्स

मंदिर शहर भुवनेश्वर
भुवनेश्वर का ‘एकमरा क्षेत्र मंदिर हजारों वर्षों की विरासत और संस्कृति का एक अनूठा उदाहरण है। यह अपनी अनूठी वास्तुकला के लिए जाना जाता है। इसका नाम यूनेस्को की सूची में भी शामिल किया गया है। शहर में कई प्राचीन मंदिर हैं। यहां आकर आप भारत के प्राचीन इतिहास को अच्छे से समझ सकते हैं।

शहर में कई प्रसिद्ध मंदिर
भुवनेश्वर के कई मंदिर पूरी दुनिया में बहुत प्रसिद्ध हैं। हर साल बड़ी संख्या में श्रद्धालु और पर्यटक यहां दर्शन करने आते हैं। प्रसिद्ध लिंगराज मंदिर भी यहीं है। भगवान शिव को समर्पित इस मंदिर में बड़ी संख्या में शिव भक्त पहुंचते हैं। यहां आने के बाद आपको मंदिर परिसर में ही मुक्तेश्वर मंदिर, राजरानी मंदिर और अनंत वासुदेव मंदिर जाने का भी अवसर मिलेगा। यहां आने के बाद मन पूरी तरह से आस्था में डूब जाता है और हर तरफ भक्ति का माहौल देखने को मिलता है।

सीएक्स

हिंदुओं की आस्था का केंद्र
भुवनेश्वर का यह प्रसिद्ध इलाका हिंदुओं की आस्था का सबसे महत्वपूर्ण केंद्र माना जाता है। यह प्रमुख तीर्थ स्थलों में आता है। हर साल बड़ी संख्या में श्रद्धालु यहां पहुंचते हैं। यहां के मंदिर प्राचीन भारतीय स्थापत्य कला के उदाहरण हैं। इनका ऐतिहासिक महत्व भी है। यहां के मंदिर ओडिशा के इतिहास और सांस्कृतिक पहचान को बताते हैं। शहर की रथ यात्रा सबसे खास होती है। शिवरात्रि और दुर्गा पूजा के दौरान इस जगह की रौनक देखते ही बनती है।

Leave a Comment