बंजर मिटटी में जल्दी शुरू करे बांस की खेती, कम लागत में होगा तगड़ा प्रॉफिट, 50 वर्षो तक कर सकते उत्पादन, जानिए खेती करने का सही और उचित समय

maxresdefault 2023 03 18T160318.173

बंजर मिटटी में जल्दी शुरू करे बांस की खेती, कम लागत में होगा तगड़ा प्रॉफिट, 50 वर्षो तक कर सकते उत्पादन, जानिए खेती करने का सही और उचित समय। आजकल किसान नए नए तरीके अपनाकर नई-नई तकनीक से खेती करके अच्छी कमाई कर रहे हैं। कई किसान पारंपरिक खेती को छोड़कर अब नई फसलों पर अपना ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। इससे उन्हें हर साल अच्छा मुनाफा तो हो ही रहा है। आइये जानते है किस की खेती करने से आप भी लाखो रुपये की कमाई कर सकते है।


बांस की खेती से 50 साल तक किया जा सकता उत्पादन

आपकी जानकारी के लिए बता दे देश में इन दिनों बांस की खेती (bamboo cultivation) की काफी मांग हो रही है। साथ ही सरकार बांस उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए प्रेरित भी कर रही है। बांस की खेती के लिए कई राज्य सरकारें किसानों को सब्सिडी दे रही हैं। तो अगर आप भी खेती को अपना पेशा बनाना चाहते हैं तो बांस की खेती (bamboo cultivation) कर सकते हैं। बांस की खेती की सबसे अच्छी बात यह है कि इसे बंजर जमीन में भी पानी की कम आवश्यकता के साथ कर सकते है। एक बार लगाने के बाद बांस के पौधे से 50 साल तक उत्पादन लिया जा सकता है। आइये जानते है बांस की खेती के लिए सही किस्मो को चयनित करना चाहिए। आइये जानते है पूरी जानकारी।

ये भी पढ़िए – खराब किस्मत बदल सकता 5 रुपये का ट्रैक्टर वाला यूनिक नोट, पल भर में भर देगा पैसो से झोली, बस करे ये छोटा सा…

बांस की खेती (bamboo cultivation) के लिए खास किस्मे

जानकारी के लिए बता दे भारत में बांस की कुल 136 किस्में हैं। इन प्रजातियों में सबसे लोकप्रिय बम्बुसा ऑरैंडिनेसी, बम्बुसा पॉलीमोर्फा, किमोनोबम्बुसा फाल्काटा, डेंड्रोकलामस स्ट्रीक्स, डेंड्रोकलामस हैमिल्टनी और मेलोकाना बेकिफेरा हैं। बांस के पौधे की रोपाई के लिए जुलाई महीना फायदेमंद साबित होता है। बांस का पौधा 3 से 4 साल में कटाई योग्य हो जाता है।

बांस की खेती (bamboo cultivation) के लिए सरकार द्वारा दी जाती सब्सिडी

राष्ट्रीय बांस मिशन के तहत अगर बांस की खेती (bamboo cultivation) में अधिक खर्च हो रहा है तो केंद्र और राज्य सरकारें किसानों को आर्थिक सहायता भी कर रही है। बांस की खेती के लिए सरकार द्वारा दी जाने वाली सहायता राशि की बात करें तो लागत का 50 प्रतिशत किसानों और 50 प्रतिशत सरकार द्वारा दिया जा सकता है। बांस की खेती की सबसे अच्छी बात यह है कि इसे बंजर जमीन पर भी किया जा सकता है।

बांस की खेती (bamboo cultivation) करने का आसान तरीका

बांस की खेती आप कैसे आसान तरीके से कर सकते है। बांस की खेती (bamboo cultivation) कश्मीर की घाटियों को छोड़कर कहीं भी की जा सकती है। भारत का पूर्वी भाग आज बांस का सबसे बड़ा उत्पादक है। एक हेक्टेयर भूमि पर बांस के 1500 पौधे रोपे जाते हैं। पौधे से पौधे की दूरी 2.5 मीटर तथा लाइन से लाइन की दूरी 3 मीटर रखी जाती है। बांस की खेती के लिए उन्नत किस्मों का चयन करना चाहिए। आइये जानते है आप बांस की खेती से कितनी तगड़ी कमाई कर सकते है।

ये भी पढ़िए – गर्दा उड़ाने आ रहा Oppo का धुआँधार फीचर्स वाला स्मार्टफोन, 100W फ़ास्ट चार्जिंग सपोर्ट और दमदार कैमरा क्वालिटी देख धक धक करने लगा दिल

जानिए बांस की खेती से कितनी मोटी कमाई कर सकते है

बांस की खेती (bamboo cultivation) मोटी कमाई का जरिया बन सकती है। क्योंकि समय के साथ बांस की खपत बढ़ती जा रही है। बांस की पहली कटाई रोपाई के चार दिनों के बाद की जाती है। एक अनुमान के मुताबिक बांस की खेती से 4 साल में एक हेक्टेयर में 40 लाख रुपये की कमाई हो जाती है। इसके अलावा बांस की कतारों के बीच खाली पड़ी जमीन पर अन्य फसलें लगाकर किसान बांस की खेती (bamboo cultivation) पर होने वाले खर्च की आसानी से वसूली कर सकते हैं।