दो दिन के दौरे पर लद्दाख पहुंचे आर्मी चीफ एम एम नरवणे ने चीन को साफ संदेश दिया है। सेना प्रमुख नरवणे ने कहा कि अभी वहां (LAC) हालात काफी नाजुक बने हुए हैं और जवान हर स्थिति से निपटने को तैयार हैं। साथ ही आर्मी चीफ ने यह भी कहा कि उन्हें पूरा यकीन है कि इस सीमा विवाद को बातचीत से सुलझाया जा सकता है।

सेना प्रमुख एमएण नरवणे ने बताया कि फिलहाल स्थिति को ठीक करने के लिए कई स्तर पर बातचीत चल रही है। फिर भी अपनी सुरक्षा को देखते हुए भारत ने बॉर्डर पर हरसंभव कदम उठाया है।

एमएम नरवरणे ने बताया कि वह गुरुवार को लेह पहुंचे थे। वहां उन्होंने ऑफिसर्स और जेसीओ से बात की। देखा कि जवानों का मनोबल काफी ऊंचा है। नरवणे ने आगे कहा कि जवान हर स्थिति को तैयार हैं। वह बोले, ‘मैं इस बात को फिर दोहराना चाहूंगा कि हमारे ऑफिसर्स, जवान दुनिया में सबसे बेहतर है। सिर्फ सेना नहीं बल्कि पूरे देश को इनपर गर्व है।’

लद्दाख के पैंगोंग सीमा विवाद को सुलझाने की पांचवी कोशिश आज यानी शुक्रवार को होगी। आज फिर चुशूल में भारत और चीन के ब्रिगेड कमांडर्स इस विवाद को सुलझाने पर बात करेंगे। इससे पहले हुई चार बैठकों में कोई ठोस नतीजा नहीं निकला है। बैठकों का ताजा दौर 29-20 अगस्त को चीन द्वारा पैंगोंग में जमीन कब्जाने की कोशिश के बाद शुरू हुआ है। उसकी इस चाल को भारतीय जवानों ने नाकाम कर दिया था और पीएलए के जवानों को पीछे खदेड़ दिया था।

समाचार की अन्य खबरें

लिंक कॉपी हो गया