ब‍िजनौर। यूपी के बिजनौर में कोरोना ने 72 घंटे में ही एक दुल्हन की खुशी को छीन लिया. कोरोना के चलते उस दूल्हे की 2 दिन बाद ही मौत हो गई जो अभी दुल्हन को मायके से शादी कर लाया था. उसी रात बुखार के चलते अस्पताल में भर्ती हुआ और तीसरे दिन इलाज के दौरान दूल्हे अर्जुन ने अस्पताल में दम तोड़ दिया.

बिजनौर शहर के मोहल्ला जाटान निवासी अर्जुन की शादी 25 अप्रैल को चांदपुर के कस्बा स्याऊ निवासी बबली के साथ हुई थी. 25 तारीख को अर्जुन की बारात धूमधाम के साथ स्याऊ गई थी और दिन में पूरी धूमधाम से बारात की चढ़त हुई और उसके बाद जयमाला फेरों की रस्में भी खुशी-खुशी पूरी होने के बाद शाम को 7 बजे के आसपास बारात को दुल्हन के साथ विदा कर दिया गया.

बारात खुशी-खुशी बिजनौर पहुंच गई और दुल्हन का भी ससुराल पहुंचने पर धूमधाम से स्वागत किया गया लेकिन उसी रात सुहागरात के द‍िन दूल्हे अर्जुन को अचानक बुखार आया और बुखार बढ़ता चला गया.

ज्यादा तबीयत खराब होने पर दूल्हे अर्जुन को तुरंत जिला सरकारी अस्पताल में ले जाया गया जहां उसकी रिपोर्ट कोरोना पॉज‍िट‍िव आई. दूल्हे को जिला अस्पताल के ही कोविड-19 वार्ड में भर्ती कर दिया गया लेकिन उसकी हालत में सुधार नहीं हुआ और हालत बिगड़ती चली गई.

पड़ोसियों के अनुसार अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी के चलते 29 अप्रैल को सुबह दूल्हे अर्जुन की कोरोना के कारण मौत हो गई. दूल्हे की मौत का समाचार मिलते ही लड़की पक्ष और लड़के पक्ष में कोहराम मच गया और नई-नवेली दुल्हन पर भी गमों का पहाड़ टूट पड़ा.

जिस दूल्हे के साथ बबली ने जीवन भर साथ निभाने के सपने देखे थे, वह 72 घंटे में ही चूर-चूर हो गए और वह जन्म-जन्म का साथ सिर्फ 72 घंटे तक ही चल पाया. इसके बाद बबली की भी हालत बिगड़ गई.

फिलहाल कोरोना से हुई दूल्हे की मौत के बाद मोहल्ले में भी शोक का माहौल है. कोई भी कुछ बोलने को तैयार नहीं, परिजनों की भी विभाग द्वारा जांच की जा रही है कि कहीं वह भी कोरोना पॉजिटिव तो नहीं हैं. यही जांचने के लिए उनके सैंपल भी लिए गए हैं.

अजब गजब,लाइफ स्टाइल,समाचार की अन्य खबरें

लिंक कॉपी हो गया