अश्वगंधा

इसकी जड़ें और नारंगी-लाल फल का प्रयोग सैकड़ों वर्षों से औषधीय प्रयोजनों के लिए पूर्ण्तः किया गया है। इस जड़ी बूटी को भारतीय जीन्सेंग या विंटर चेरी भी कहा जाता है। आपको बता दे की अश्वगंधा का अर्थ ‘घोड़े की गंध’ है, जो इसकी जड़ों की विशिष्ट गंध को दर्शाता है।

हृदय के लिये लाभकारी

अश्वगंधा कोलेस्ट्रॉल लेवल को पूर्ण्तः कंट्रोल करता है। हृदय की मांशपेशियों को मजबूत करता है। अश्वगंधा कासेवन करने से रक्त संचार बहुत अच्छा रहता है, जिससे रक्त के थक्के नहीं जमते। जिससे हार्ट अटैक जैसे खतरनाक रोग से भी बचाता है।

कैंसर का इलाज

अश्वगंधा प्राकृतिक औषधि के रूप में इस खतरनाक बीमारी से लड़ने का महत्वपूर्ण काम करती है। अश्वगंधा कैंसर फैलाने वाली कैंसर सेल्स को फैलने से रोकने का काम करती है।

इम्युनिटी सिस्टम मजबूत

प्रतिरक्षा प्रणाली यानि इम्युनिटी सिस्टम मजबूत बनाने के लिये अश्वगंधा का अवश्य इस्तेमाल करें। अगर आपको एनीमिया रोग है तो इसके सेवन से आपको बहुत मदद मिलेगी।

बालों के लिेये लाभकारी

अगर आपके बाल टूट रहे हैं तो अश्वगंधा का अवश्य इस्तेमाल करें। शरीर में कोर्टिसोल का स्तर बढने से बाल झड़ते हैं। अश्वगंधा शरीर में कोर्टिसोल के स्तर को बहुत कम करता है। जिससे बाल बहुत कम झड़ते हैं।

सेहत की अन्य खबरें

लिंक कॉपी हो गया