पिता की मौत के कुछ दिन बाद ही अग्निवीर बनके लौटी बेटी,गर्व से मां की आंखों से छलक उठे आंसू

agniveer hisha 4

आज के समय में लड़कियां किसी से भी पीछे नहीं है और हर क्षेत्र में नाम रोशन कर रही है. छत्तीसगढ़ की एक बेटी जब देश सेवा के लिए पहली बार निकली तो उसे पता नहीं था कि वह अपने पिता को आखरी बार देख रही है. देश सेवा के लिए निकली बेटी अग्निपथ योजना के अंतर्गत भारतीय सेना में अग्नि के गांव लौटे.


पिता की मौत के कुछ दिन बाद ही अग्निवीर बनके लौटी बेटी,गर्व से मां की आंखों से छलक उठे आंसू

पिता की मौत के कुछ दिन बाद ही अग्निवीर बनके लौटी बेटी,गर्व से मां की आंखों से छलक उठे आंसू

Also Read:मध्यप्रदेश की गर्मी ने तोड़ा राजस्थान का रिकॉर्ड,बेतूल 42 डिग्री के पार जाएगा तापमान,जानिए ताजा अपडेट

पिता का सपना था कि उनकी बेटी कामयाब बने लेकिन जब उनकी बेटी कामयाब बने तो वह उसकी कामयाबी को देख नहीं पाए. आपको बता दें कि गांव के सभी लोग बेटे के कामयाबी पर जश्न मना रहे हैं. यह बेटी छत्तीसगढ़ की और इसका नाम हिसा बघेल है.

पिता की मौत के कुछ दिन बाद ही अग्निवीर बनके लौटी बेटी,गर्व से मां की आंखों से छलक उठे आंसू

agniveer hisha

आपको बता दें कि 19 साल की हिसा छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले की रहने वाली है और अग्निवीर के तहत भारतीय नौसेना में भर्ती हुई है. अपनी कड़ी ट्रेनिंग पूरी करके वह गांव लौटी है और पहली बार जब वह गांव लौटी तो गांव के लोग दोस्त रिश्तेदार सभी ने उसका स्वागत किया और 2 घंटे की रैली निकाली गई.

agniveer hisha 6

इस बेटी के पिता और तो चलाते थे और कैंसर की वजह से 2023 में उनका निधन हो गया. 5 मार्च 2023 को इस बेटी ने अपने पिता को खो दिया लेकिन पिता के मौत की खबर इस व्यक्ति को देर से दी गई. हिस्सा बघेल के पिता का सपना था कि उनकी बेटी पढ़ लिखकर कामयाब हो और सरकारी नौकरी लगे.

agniveer hisha 3

जब ही सागर पहुंचे तो गांव की सीमा पर पहुंचने पर लोग उनका स्वागत किया और गांव पहुंचते ही डीजे की धुन पर लोग नाचने लगे लोगों से मलाई पहनाने लगे और महिलाएं घर से बाहर निकल कर उन्हें टीका लगाई. उसकी मां ने उन्हें टीका लगाया और खुशी से झूम उठे.