Help

देश के विभिन्न हिस्सों से असम की कम से कम छह नाबालिग लड़कियों को मानव तस्करों के चंगुल से छुड़ाया गया है. पुलिस ने रविवार को यह जानकारी दी. कार्बी आंगलोंग के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कंगकन कुमार नाथ ने कहा कि जिले के कई थानों में शिकायतें मिलने के बाद पिछले 10 दिन के दौरान इन लड़कियों को मुक्त कराया गया.

उन्होंने कहा, पहली एफआईआर आठ दिसंबर को दिफू थाने में दर्ज की गई थी. इस पर कार्रवाई करते हुए, हमने हरियाणा के फतेहाबाद से 16 वर्षीय लड़की को मुक्त कराया और एक मानव तस्कर को गिरफ्तार भी किया.

इन जगहों से भी मुक्त कराई गई लड़कियां

नाथ ने कहा कि उसके बाद बोकाजन थाने में चार एफआईआर दर्ज की गईं और थाने ने लड़कियों को छुड़ाने के लिए तत्काल अभियान शुरू किया. उन्होंने कहा, हमने बोकाजन रेलवे स्टेशन से दो लड़कियों और नगालैंड के दीमापुर रेलवे स्टेशन व तिनसुकिया से एक-एक लड़की को मुक्त कराया. अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने कहा कि 14 वर्षीय एक लड़की को राजस्थान के झुंझुनूं से मुक्त कराया गया.

उन्होंने कहा, दस दिसंबर को बकालिया थाने में प्राथमिकी दर्ज होने के बाद, हमें पता चला कि नाबालिग को झुंझुनूं में 33 वर्षीय व्यक्ति के साथ शादी के उद्देश्य से 1.5 लाख रुपये में बेचा गया है. कार्बी आंगलोंग पुलिस की एक टीम राजस्थान गई और राजस्थान पुलिस व अन्य एजेंसियों के सहयोग से उसे मुक्त कराया गया. नाथ ने कहा कि एक महिला सहित दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

(भाषा से इनपुट)