बंगाल विधानसभा में पोस्टर लेकर नारेबाजी पर रोक, केंद्रीय एजेंसियों के खिलाफ निंदा प्रस्ताव आज

West Bengal Assembly

पश्चिम बंगाल विधानसभा के अंदर पोस्टर और बैनर लेकर नारेबाजी करने और धरना देने पर रोक लगा दी गई है. सोमवार को विधानसभा की कार्यवाही शुरू होने के बाद बंगाल विधानसभा के अध्यक्ष बिमान बनर्जी ने यह निर्देश जारी किया. बता दें कि पिछले सप्ताह बंगाल विधानसभा में विरोधी दल भाजपा के भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन से कार्यवाही बाधित हुई थी. बाद में टीएमसी ने भी विधानसभा में नारेबाजी की थी. उसके मद्देनजर सोमवार को विधानसभा अध्यक्ष ने यह फरमान जारी किया. बता दें कि आज ही विधानसभा के दूसरे सत्र के दौरान केंद्रीय एजेंसियों के खिलाफ निंदा प्रस्ताव विधानसभा में पेश किया जाएगा.

सूत्रों का अनुसार निंदा प्रस्ताव पेश किये जाने के समय पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी विधानसभा कक्ष में उपस्थित रहेंगी और वह निंदा प्रस्ताव पर हुई चर्चा में भाग लेंगी. इस प्रस्ताव में बीजेपी पर केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया गया है.

विधानसभा में बैनर और पोस्टर के साथ नारेबाजी और धरना पर रोक

विधानसभा अध्यक्ष बिमान बनर्जी ने कहा, “विधानसभा में कोई पोस्टर और बैनर लेकर धरना नहीं दिया जा सकेगा. कोई भी विधायक बैनर और पोस्टर लेकर नारेबाजी नहीं कर पाएंगे. ” बिमान बनर्जी ने विधानसभा के नियम पढ़कर सुनाएं. बता दें कि पिछले हफ्ते इसी तरह की एक घटना ने विधानसभा का कामकाज ठप कर दिया था. अध्यक्ष ने सरकार और विपक्षी दलों दोनों को चेताया. स्पीकर का मत है कि उस दिन की घटनाओं में सरकार और विपक्षी दल की भूमिका निराशाजनक थी.

विधानसभा में आज केंद्रीय एजेंसियों के खिलाफ पेश होगा निंदा प्रस्ताव

सरकार के मुख्य सचेतक निर्मल घोष और विधायक तापस रॉय विधानसभा में दूसरे सत्र के दौरान केंद्रीय एजेंसियों के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पेश करेंगे. इस प्रस्ताव में कहा गया है कि केंद्रीय एजेंसी राज्य में मुख्य विपक्षी दलों के विधायकों और नेताओं के प्रति नरमी दिखा रही है, जिनके खिलाफ कई शिकायतें हैं. राजनीतिक रूप से जीतने में असमर्थ होकर एजेंसी का बदला लेने के लिए दुरुपयोग किया जा रहा है. विभिन्न जगहों पर सरकार को उखाड़ फेंकने की साजिश चल रही है. कहीं प्रताड़ना की जा रही है. विरोधी दल के नेताओं को झूठे मामले में फंसाया जा रहा है. दूसरी ओर, बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने कहा कि बंगाल का आज का दिन दुर्भाग्यपूर्ण है. चोरों सभा आज प्रस्ताव ला रहे हैं कि हम पकड़े नहीं जाएंगे. यह अकल्पनीय है, लेकिन यह स्थिति ज्यादा दिन नहीं रहने वाली है. सब बदल जाएगा.