farmer rally

देश की राजधानी दिल्ली-एनसीआर में आज सीजन का पहला कोहरा पड़ा है. तापमान में भी गिरावट दर्ज हुई है लेकिन आम दिनों से आज पुलिस चहलकदमी ज्यादा दिख रही थी. कारण है किसानों की ‘गर्जना रैली’. देशभर के किसान आज दिल्ली के रामलीला मैदान में भारतीय किसान संघ की गर्जना रैली में शामिल होंगे. इस रैली में 50 से 55 हजार किसानों के शामिल होने की संभावना जताई जा रही है. बताया जाता है कि 700 से 800 बसें और करीब 4000 निजी वाहनों से रामलीला मैदान पहुंच रहे हैं. ये खबर सुनते ही एक साल पहले की यादें ताजा होने लगी जब ऐसी ही कड़ाके की सर्दी में टेंट लगाए किसानों ने एक साल से ज्यादा समय तक आंदोलन किया था.

हालांकि ये आंदोलन वैसा नहीं है जैसा एक साल पहले लोगों ने देखा था. इस बार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) से संबद्ध किसान संगठन भारतीय किसान संघ (BKS) किसानों की स्थिति में सुधार के साथ कई मांगों को लेकर दिल्ली में किसान गर्जना विरोध मार्च निकालेगा. रविवार शाम से ही दिल्ली के रामलीला मैदान में किसानों के आने का सिलसिला शुरू हो चुका है. बीती रात कुछ किसान सोते हुए तो कुछ किसान टहलते हुए नजर आए. दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने एडवाइजरी जारी करते हुए लोगों ने आज समय से पहले घरों से निकलने के लिए कहा है. लेकिन इन किसानों की मांग क्या है?

किसानों की सरकार से डिमांड

एक साल पहले 14 महीने तक चले किसान आंदोलन की मुख्य मांगों में तीनों कृषि कानूनों को वापस लेना था. पीएम मोदी ने खुद माफी मांगते हुए इसका ऐलान किया था. इसके साथ ही किसानों की अन्य मांगों को भी मानने का पूरा भरोसा दिया था. आज किसानों की गर्जना रैली में सभी कृषि उपज के बदले उपयुक्त मूल्य के भुगतान की मांग सहित पांच और डिमांड सरकार के सामने रखीं जाएंगी.

आज की गर्जना रैली में क्या हैं किसानों की मांग?

1- कृषि उपज पर वस्तु एवं सेवा कर (GST) नहीं लगाया जाना चाहिए.
2- किसान सम्मान निधि के तहत दी जाने वाली वित्तीय सहायता बढ़ाई जानी चाहिए.
3-अनुवांशिक रूप से संवर्द्धित (जीएम) सरसों के बीज को मंजूरी नहीं देनी चाहिए.
4- देश की आयात और निर्यात नीति लोगों के हित में होनी चाहिए.
5- किसान के ट्रैक्टर को 15 साल वाली नीति से बाहर रखने की मांग.

ट्रैफिक एडवाइजरी जारी

आज सोमवार को आम दिनों से ज्यादा ट्रैफिक होता है. इसका कारण है वीक की शुरुआत. दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने इसके लिए बाकायदा अलर्ट जारी कर दिया है. इसमें बताया गाय है कि महाराजा रणजीत सिंह मार्ग, मीरदर्द चौक, मिंटो रोड, अजमेरी गेट, चमन लाल मार्ग, दिल्ली गेट, जेएलएन मार्ग, कमला मार्केट गोलचक्कर से हमदर्द चौक, भवभूति मार्ग और पहाड़गंज चौक का रूट डायवर्ट रहेगा. ये लुटियंस जोन कहलाता है. रणजीत सिंह फ्लाईओवर पर बाराखंभा रोड से गुरु नानक चौक, मिंटो रोड से कमला मार्केट गोलचक्कर, विवेकानंद मार्ग, जेएलएन मार्ग (दिल्ली गेट से गुरु नानक चौक) तक यातायात को पूरी तरह से रोका जाता है या फिर रूट डायवर्ट किया जाएगा. ये भीड़ को देखते हुए फैसला लिया जाएगा.

रामलीला मैदान को छावनी में किया गया तब्दील

पुलिस भी भारी संख्या में तैनात है. रामलीला मैदान को छावनी में तब्दील किया गया है. संदिग्ध वस्तुओं की तलाशी ली जा रही है. ऐसे विरोध प्रदर्शनों में अक्सर अराजकता फैलाने लोग भी शामिल हो जाते हैं और अप्रिय घटना को अंजाम दे सकते हैं. इसके चलते दिल्ली पुलिस ने लोगों से अपील की है कि वो भी सतर्क रहें. अगर कोई संदिग्ध सामान और इंसान दिख रहा है तो तुरंत पुलिस को इसकी सूचना दें.