पाकिस्तान की निकली हेकड़ी, बाबर-रिजवान 24 घंटे में बेदम, इंग्लैंड ने बजाया बैंड

एक दिन पहले ही पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम ने शानदार शतक जमाया था और 10 विकेट से इंग्लैंड को हराया था, जिस पर पूरा पाकिस्तान इतरा रहा था.

सिर्फ 24 घंटे लगे पाकिस्तान को सातवें आसमान से जमीन पर आने में. एक तरफ नागपुर में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया की धुनाई करते हुए दमदार जीत दर्ज की. वहीं उसी वक्त कराची में इंग्लैंड ने पाकिस्तान का बैंड बजा दिया. एक दिन पहले इसी मैदान पर ऐतिहासिक पारी और साझेदारी के करने वाले कप्तान बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान पर जो पाकिस्तानी इतरा रहा था, उसे 24 घंटे में ही हकीकत का सामना करना पड़ गया. कराची में हुए तीसरे टी20 में इंग्लैंड ने बल्ले से धुनाई के साथ ही गेंद से भी पाकिस्तान के पसीने छुड़ाए और 63 रन से आरामदायक जीत दर्ज की.

एक तरफ पाकिस्तानी टीम रही, जिसके प्रदर्शन में कुछ ही घंटों के भीतर जमीन-आसमान का अंतर नजर आया, वहीं दूसरी ओर इंग्लैंड ने कप्तान जॉस बटलर समेत कई दिग्गज खिलाड़ियों की गैरहाजिरी के बावजूद निरंतरता बरकरार रखी. इंग्लैंड की टीम में जगह पक्की करने का प्रयास कर रहे तीन नए बल्लेबाजों ने जमकर धुनाई की और टीम को 221 रनों तक पहुंचाया.

23 साल वाले ने मचाई मार

इस मैच से डेब्यू कर रहे दाएं हाथ के युवा ओपनर विल जैक्स ने ताबड़तोड़ 40 रन कूटकर शानदार शुरुआत की. इसके बाद 23 साल के युवा बल्लेबाज हैरी ब्रूक और बेन डकेट ने पूरी पाकिस्तानी गेंदबाजी की धज्जियां उड़ा दी. दोनों ने सिर्फ 69 गेंदों में 139 रनों की नाबाद साझेदारी की और 3 विकेट पर 221 रन तक पहुंचाया. ब्रूक ने सिर्फ 35 गेंदों में आतिशी 81 रन (8 चौके, 5 छक्के) कूट दिए, जबकि डकेट भी 70 रन (42 गेंद, 8 चौके, 1 छक्का) की जबरदस्त पारी खेलकर नाबाद लौटे.

फ्लॉप रहे बाबर-रिजवान

इंग्लैंड की ओर से इस मैच में तूफानी गेंदबाज मार्क वुड ने 6 महीने बाद चोट से वापसी की, जबकि बाएं हाथ के पेसर रीस टॉपली को भी प्लेइंग इलेवन में जगह मिली. इन दो गेंदबाजों के आते ही पाकिस्तानी बैटिंग का बुरा हाल हो गया. गुरुवार 22 सितंबर की रात इंग्लैंड के गेंदबाजों पर पूरी तरह छाने वाले बाबर आजम (8) और मोहम्मद रिजवान (8) इन दोनों गेंदबाजों का शिकार बने. वुड ने बाबर को आउट किया, जबकि टॉपली ने रिजवान को बोल्ड कर दिया.

ये भी पढ़ें



फिर मिडिल ऑर्डर का बुरा हाल

एक बार फिर बाबर और रिजवान के सस्ते में आउट होते ही पाकिस्तान का कमजोर मिडिल ऑर्डर बुरी तरह एक्सपोज हो गया और इंग्लिश गेंदबाजों ने उसमें आसानी से सेंध लगा दी. हालांकि, पाकिस्तान के लिए शान मसूद ने एक बेहतरीन पारी खेली और विश्व कप की टीम में अपने चयन को कुछ हद तक साबित किया. इस साल अच्छी फॉर्म में चल रहे बाएं हाथ के मसूद ने अपने सिर्फ तीसरे टी20 इंटरनेशनल में एक असरदार पारी खेली. वह एक छोर से पाकिस्तान के लिए रन जुटाते रहे और 65 रन बनाकर नाबाद लौटे. पाकिस्तानी टीम 20 ओवरों में 8 विकेट खोकर 158 रन ही बना सकी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.