अगले 10 दिनों में बदलेगा 5 ग्रहों की राशि, इनके जीवन में होगा बड़ा बदलाव

september-planet-change-2022_710x400xt

दिवाली महापर्व के दौरान कई ग्रह अपनी राशि बदलने जा रहे हैं। 16 से 26 अक्टूबर के बीच मंगल, सूर्य, शुक्र, बुध और शनि की गति में परिवर्तन होने जा रहा है। इस दौरान ज्योतिष में सबसे धीमी गति से चलने वाला और सबसे महत्वपूर्ण ग्रह शनि वक्री में गोचर करेगा। 10 दिनों के भीतर कई ग्रहों के एक साथ परिवर्तन का सभी आम लोगों के साथ-साथ देश और दुनिया पर भी गहरा प्रभाव पड़ेगा। इन ग्रहों के राशि परिवर्तन के कारण नौकरी, व्यवसाय, अवसरों और लोगों के स्वास्थ्य में भी बदलाव आएगा।

सबसे पहले 16 अक्टूबर को मंगल अपनी राशि मिथुन राशि में बदलेगा। फिर अगले दिन यानी 17 अक्टूबर को सूर्य तुला राशि में प्रवेश करेगा। तुला राशि को सूर्य की कमजोर राशि माना जाता है। सूर्य के नीच राशि में प्रवेश के कारण सरकारी कर्मचारियों के लिए कुछ तनाव और मुश्किलें बढ़ सकती हैं। उसके बाद 18 अक्टूबर को शुक्र तुला राशि में और 23 अक्टूबर को शनि वक्री हो जाएगा। महीने के अंत में वाणी, बुद्धि और व्यवसाय का स्वामी बुध तुला राशि में गोचर करेगा। आइए जानें कि 10 दिनों में 5 ग्रहों की चाल में परिवर्तन का सभी राशियों के लोगों पर क्या प्रभाव पड़ेगा।

मंगल का गोचर- 16 अक्टूबर
मंगल 16 अक्टूबर से मिथुन राशि में रहेगा। वे 13 नवंबर तक इसी राशि में रहेंगे। ज्योतिष में मंगल को बल, पराक्रम, प्रकृति में उग्रता, रक्त और क्रोध से जोड़ा गया है। यदि किसी व्यक्ति की जन्म कुंडली में मंगल शुभ भाव में हो तो यह शुभ फल देता है। वहीं यदि मंगल का प्रभाव प्रतिकूल हो तो जातक का स्वभाव क्रोधी हो जाता है। मेष, सिंह और मकर राशि के जातकों को मंगल के गोचर से अच्छे परिणाम मिलेंगे। वहीं वृष, मिथुन, कर्क, कन्या, तुला और अन्य राशियों के अशुभ प्रभाव हो सकते हैं।

17 अक्टूबर सूर्य तुला राशि में परिवर्तन
सम्मान, प्रसिद्धि और नेतृत्व का दाता सूर्य 17 अक्टूबर से 16 नवंबर तक तुला राशि में रहेगा। सूर्य के शुभ प्रभाव से व्यक्ति को मान-सम्मान और यश की प्राप्ति होती है। ऐसे में वृष, सिंह, तुला और मकर राशि के जातकों को इस दौरान नौकरी में प्रमोशन और धन की प्राप्ति होगी।

शुक्र परिवर्तन
18 अक्टूबर से 11 नवंबर तक सुख-समृद्धि का कारक शुक्र तुला राशि में रहेगा। शुक्र व्यक्ति की आय, आराम, सुख और यौन सुखों को प्रभावित करता है। शुक्र के शुभ प्रभाव से इन सभी चीजों में वृद्धि होती है। साथ ही इसके कुप्रभावों के कारण कुछ रोग व्यक्ति को घेर लेते हैं। मिथुन, कर्क, सिंह, कन्या, तुला, वृश्चिक, धनु, कुंभ और मीन राशि के जातकों का प्रभाव अच्छा रहेगा।

शनि मकर राशि में रहेगा
न्याय और कर्म दाता शनि 23 अक्टूबर से मकर राशि में प्रवेश करेगा। 17 जनवरी 2023 तक शनि की ऐसी ही गति रहेगी। इस दौरान शनि घेटनी नक्षत्र में रहेगा, जो मंगल का तारा है। मंगल और शनि एक दूसरे से शत्रुता महसूस करते हैं। इस प्रकार शनि और मंगल का अशुभ योग बनेगा। यदि शनि मार्ग में हो तो इस राशि के जातकों को कुछ राहत मिलेगी और कुछ को कष्ट होगा। सिंह, वृश्चिक और मीन राशि पर अच्छा प्रभाव रहेगा, जबकि शनि अन्य राशियों पर भारी रहेगा।

26 अक्टूबर से 13 नवंबर तक तुला राशि में
बुध ज्योतिष शास्त्र में बुध को वाणी, विद्या, व्यापार और लेन-देन का ग्रह माना गया है। इनके शुभ प्रभाव से व्यक्ति के व्यवसाय में सुधार होता है और वाणी की मधुरता के कारण उसे समाज में मान-सम्मान की प्राप्ति होती है। यह परिवर्तन वृष, कन्या, धनु, मकर और मीन राशि के जातकों के लिए अच्छा रहेगा, जबकि मेष, मिथुन, कर्क, सिंह, तुला, वृश्चिक और कुंभ राशि के जातकों को कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

Source