West Bengal Crime: बांग्लादेश से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग और हवाला रैकेट मामले में ED ने 2 को किया गिरफ्तार, 9 ठिकानों पर मारी थी रेड

Enforcement Directorate

प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate Ed) ने पड़ोसी बांग्लादेश से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग और हवाला रैकेट के सिलसिले में पश्चिम बंगाल में कम से कम 9 ठिकानों पर छापेमारी की थी. इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. आज उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा और हिरासत में लेने की अपील प्रवर्तन निदेशालय करेगा. ईडी के सूत्रों के अनुसार, छापेमारी और तलाशी अभियान बांग्लादेश (Bangladesh) स्थित एनआरबी ग्लोबल बैंक के पूर्व प्रबंध निदेशक प्रशांत कुमार हलदर और उत्तर 24 परगना के अशोकनगर निवासी सुकुमार मृधा द्वारा धन के बड़े गबन से संबंधित हैं. बताया जा रहा है कि इन्होंने अवैध रुप से कमाए पैसों का इस्तेमाल महंगी प्रॉपर्टीज (Expensive Properties In West Bengal) को खरीदने में किया है. पता चला कि सुकुमार मृधा पश्चिम बंगाल में हलदर के एजेंट के तौर पर काम करता था. प्रशांत कुमार हलदर का अशोकनगर के नबापल्ली इलाके में एक घर मौजूद है.

ईडी के एक अधिकारी ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर कहा, हमें शक है कि मृधा और हलदर के पास अन्य शहरों में भी कई संपत्तियां हैं. हम पश्चिम बंगाल में इन दोनों के रिश्तेदारों से पूछताछ कर रहे हैं.

प्रवर्तन निदेशालय ने अशोकनगर से दो को किया गिरफ्तार

ईडी ने इस सिलसिले में मृधा के दामाद संजीब हवलदार से भी पूछताछ की, जो अशोकनगर का रहना वाला है. दामाद ने बताया कि उसके ससुर दो साल पहले अशोकनगर आए थे.उन्हें धन शोधन और हवाला घोटालों में अपने ससुर की संलिप्तता के बारे में कोई जानकारी नहीं थी. ईडी के अधिकारियों ने शुक्रवार को राज्य में नौ जगहों की संयुक्त तलाशी ली. अशोकनगर में एक साथ तीन जगहों पर तलाशी शुरू हुई. शुक्रवार को सुबह 8 बजे से दोपहर 1.30 बजे तक अशोकनगर नंबर 8 भारती मठ इलाके में स्वप्न मित्रा के घर पर ईडी ने छापेमारी की. उसके बाद स्वपन मित्रा और उनके भाई उत्तम मित्रा को गिरफ्तार कर लिया.

बांग्लादेश से हवाला से अवैध धन लाने का आरोप

ईडी को शक है कि यह मृधा का प्रमुख सहयोगी है. ईडी के सूत्रों ने बताया कि उन्होंने स्वपन मित्रा से कई महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद किए हैं.पता चला है कि स्वपन सुकुमार के साथ मछली का व्यापार करता था. स्वपन मित्रा और उनके भाई उत्तम मित्रा को हिरासत में ले रहे ईडी के अधिकारी यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि बांग्लादेश से इस देश में पैसा कैसे लाया गया और कहां किया गया. ईडी के अधिकारी सुकुमार मृधा के ठिकाने की भी तलाश कर रहे हैं, जो इस समय घोटाले में शामिल हैं.

Similar Posts