West Bengal Crime: बंगाल में थम नहीं रहा है हथियार मिलने का सिलसिला, दक्षिण 24 परगना में अवैध आर्म्स के साथ 5 गिरफ्तार

West Bengal Arms Seized

पश्चिम बंगाल अवैध हथियार ( West BengalCrime ) मिलने का सिलसिला थम नहीं रहा है. राज्य के दक्षिण 24 परगना जिले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है और उनके पास से हथियार और गोलाबारूद बरामद हुआ है. पुलिस (West Bengal Police) ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. पुलिस ने बताया कि गुप्त सूचना पर कार्रवाई करते हुए बृहस्पतिवार की रात कैनिंग थाना क्षेत्र (Canning Police Station) के तलदी इलाके के बिस्वासपाड़ा चौमाथा में छापेमारी की गयी और पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया. उन्होंने बताया कि उनके पास से एक बंदूक, दो कारतूस, एक हंसिया और ताला तोड़ने वाले तीन उपकरण बरामद किए गए. पुलिस को संदेह है कि यह लोग डकैती करने के इरादे से एकत्र हुए थे.

उन्होंने बताया कि एक अन्य घटना में बसंती थाना क्षेत्र के भरतगढ़ में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया और उसके पास से हथियार बरामद किए गए. पुलिस ने बताया कि कुछ लोग हथियार और गोला-बारूद के साथ इलाके में जमा हो गए थे. पुलिस को देखते ही वे भाग गए, हालांकि उनमें से एक को पकड़ लिया गया.

बासंती इलाके से पुलिस ने हथियार के साथ किया गिरफ्तार

गुरुवार की रात बसंती पुलिस ने बासंती के भरतगढ़ इलाके से शमीम हुसैन शेख नाम के शख्स को गिरफ्तार किया है. पीड़ित के पास से एक डबल बैरल लंबी पाइप गन, छह चैंबर लंबी पाइप गन, दो लंबी पाइप गन, तीन एक शटर गन और एक सात एमएम की पिस्तौल बरामद की गई. 29 राउंड ताजा कारतूस और 10 राउंड ताजा बम बरामद किए गए. बसंती पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 25/27 आर्म्स एक्ट और 3/4 के तहत मामला दर्ज किया है. बासंती थाने की पुलिस आज अलीपुर कोर्ट में आरोपियों को पेश किया गया, जहां पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है.

ममता बनर्जी ने दिया था हथियार बरामदगी का निर्देश

पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले के बोगटुई कांड में नरसंहार के बाद सीएम ममता बनर्जी ने हथियार बरामदी का निर्देश दिया था. उसके बाद से राज्य के विभिन्न इलाके में लगातार हथियार बरामद हो रहे हैं. इस बाबत बड़ी संख्या में लोगों की गिरफ्तारी भी हुई है. कलकत्ता हाईकोर्ट के निर्देश पर बोगटुई हिंसा कांड का सीबीआई जांच कर रही है. इस कांड के बाद राज्य में बहुत ही हंगामा मचा था. बीरभूम हिंसा के बाद केंद्रीय टीम ने भी इलाके का दौरा किया था. बीजेपी की फैक्ट फाइंडिंग टीम ने अपनी रिपोर्ट में कहा था कि इसमें टीएमसी नेताओं की मिलीभगत थी.

Similar Posts