Uttarakhand: बद्रीनाथ धाम में रंग-रोगन का काम जोरों पर, 2 साल बाद 8 मई को आम श्रद्धालुओं के लिए खुल रहे श्री बद्री विशाल के कपाट

Uttarakhand News: chardham yatra start from 8 may Painting work in full swing in Badrinath Dham

भगवान श्री बद्री विशाल के कपाट 8 मई से आम श्रद्धालुओं के लिए खुलने जा रहे हैं. जिसके लिए बद्रीनाथ-केदारनाथ मंदिर (Badrinath-Kedarnath Temple) समिति भी यात्रियों तैयारियों में जुट गया है. बद्रीनाथ धाम में मंदिर को रंग-रोगन करने का काम शुरू हो गया है. श्री बद्रीनाथ धाम के मुख्य द्वार से लेकर पूरे मंदिर पर तरह-तरह की नक्काशी से बनाए हुए लकड़ी के आकार देखने को मिलते हैं. हर बार इन पर नक्काशी तलाशने के लिए रंग-रोगन करना पड़ता है, लेकिन पिछले 2 सालों में कोरोना महामारी के चलते यहां न तो यात्रा तैयारियां ढंग से हो पाई न ही रंग रोगन. वहीं, इस बार हर कोई चार धाम यात्रा को लेकर उत्साहित दिखाई दे रहा है. बताते दें कि इस बार 2 सालों के बाद आम श्रद्धालुओं को कपाट खुलते समय यहां श्री बद्रीनाथ धाम के दर्शन की अनुमति होगी.

उत्तराखंड (Uttarakhand)के चमोली जनपद में अलकनंदा नदी के तट पर श्री बद्री विशाल का मंदिर स्थित है. यहां पर भगवान श्री विष्णु की पूजा अर्चना की जाती है. माना जाता है कि इस स्थान पर आने से भक्तों के सारे कष्ट दूर हो जाते हैं. कहते हैं कि हर व्यक्ति को एक बार श्री बद्री विशाल के दर्शन अवश्य करने चाहिए.

Similar Posts