Uttarakhand: गर्मी से तप रहे लोगों को मिलेगी थोड़ी राहत, पहाड़ों में बदलेगा मौसम; आज कई जगहों पर बारिश-ओलावृष्टि की संभावना

Weather Update

उत्तराखंड (Uttarakhand) में बीते कई दिनों से पड़ रही भीषण गर्मी ने लोगों की हालत खराब कर रखी है. गर्मी का पारा बढ़ने से यहां के लोगों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. हरिद्वार, ऋषिकेश और देहरादून (Dehradun) जैसे स्थानों पर पारा 40 डिग्री के आसपास बना हुआ है, लेकिन अब आने वाले कुछ दिन यहां के लोगों को गर्मी से थोड़ी राहत मिलने वाली है. दरअसल पहाड़ों पर मौसम का मिजाज बदलने (Uttarakhand Weather Forcast) जा रहा है. बारिश, ओलावृष्टि, बिजली गिरने के साथ ही तेज अंधड़ के आसार हैं. पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता और दक्षिण से आ रही नम हवाओं के दबाव के चलते गुरुवार को गढ़वाल और कुमाऊं मंडल के पर्वतीय इलाकों में तेज गर्जना के साथ ही हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है.

मौसम विभाग ने पर्वतीय इलाकों में बिजली गिरने के साथ ही 60 से 70 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से तेज हवाओं के चलने की भी संभावना जताई है. कहीं-कहीं हवाओं की रफ्तार 80 किमी प्रति घंटा हो सकती है. ऐसे में अलर्ट रहने की भी जरूरत है. मौसम विभाग के मुताबिक अचानक हो रहे मौसमी बदलाव की वजह पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता और दक्षिण से आ रही नम हवाएं हैं. आने वाले 3 से 4 दिनों तक मैदान से लेकर पहाड़ तक तेज गर्जना और ओलावृष्टि के साथ बारिश की संभावना है. वहीं राजधानी में हल्के बादल छाए रहेंगे. और यहां भी 70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से आंधी चलने की संभावना जताई है.

10 दिन पहले ही पारा रिकार्ड स्तर तक पहुंचा

इस बार 10 दिन पहले ही पारा रिकार्ड स्तर तक पहुंच गया है. मंगलवार अब तक इस सीजन का सबसे गर्म दिन रहा है. इसी के ही साथ अप्रैल में पारे ने पुराने रिकॉर्ड ध्वस्त करते हुए नया कीर्तिमान स्थापित कर दिए हैं. मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार आज से प्रदेश में देहरादून, उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग और पिथौरागढ़ में कहीं-कहीं हल्की बारिश और ओलावृष्टि हो सकती है. जबकि, कहीं-कहीं अंधड़ को लेकर भी चेतावनी जारी की गई है.

फसलों को नुकसान पहुंचाएगी ओलावृष्टि

इस समय पर्वतीय क्षेत्रों में गेहूं की फसल कटने के लिए तैयार होने वाली है. खेतों में खड़ी फसल पक रही है. खेतों की प्याज, लहसून आदि सब्जियां लगी हुई हैं. ऐसे में ओलावृष्टि फसलों को क्षति पहुंचा सकती है. मौसम विभाग ने किसानों से फसलों के ओलावृष्टि से बचाव के उपाय करने की सलाह जारी की है.

Similar Posts