Uttar Pradesh: बीजेपी MLC ऋषि पाल और बेटों समेत नौ के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी, घर में घुसकर मारपीट का मामला

Unbnao

अलीगढ़ (Aligarh) स्थित अतरौली के एक मामले में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) जिलाध्यक्ष व एमएलसी चौधरी ऋषिपाल सिंह, उनके बेटों और भतीजों सहित 9 लोगों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया है. सत्र न्यायालय से ऋषि पाल सिंह की जमानत याचिका पहले ही खारिज हो चुकी है. अतरौली कस्बे के बीजेपी नेता के परिवार से मारपीट के मामले में एनबीडब्ल्यू जारी किया गया है. दरअसल, मामला 11 जुलाई 2018 का है. आरोप है कि अतरौली निवासी बीजेपी के नेता के भतीजों के साथ घर में घुसकर मारपीट की थी. इस मामले में जिलाध्यक्ष एमएलसी चौधरी ऋषि पाल सिंह व उनके बेटों के अलावा भतीजों सहित 9 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था. इस मामले में बीजेपी एमएलसी ऋषि पाल सिंह की तरफ से रिवीजन याचिका डाली थी, लेकिन अदालत ने उसे खारिज कर दिया था, जिसके बाद अब निचली अदालत ने ऋषि पाल सिंह सहित नौ लोगों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कर दिया है.

क्या है पूरा मामला

घटनाक्रम 11 जुलाई 2018 का है. इसमें कहा गया है कि अतरौली निवासी बीजेपी के पूर्व जिला मंत्री अतुल गुप्ता के नाबालिक भतीजे यश गुप्ता ऋषभ गुप्ता मोहल्ला मुगलान में अपनी हलवाई की दुकान पर बैठे थे, तभी मोटरसाइकिल खड़ी करने को लेकर कुछ विवाद हो गया था. इसी दौरान युवकों ने फोन करके 8-10 लोगों को वहां बुला लिया और लाठी-डंडों से मारपीट शुरू कर दी. बचने के लिए दोनों किशोर अपने घर में घुसे. विपक्षी भी उनके घर में घुस आए और मारपीट शुरू कर दी. इससे उनके गंभीर चोटें आई. घटना में बीजेपी के मौजूदा जिला अध्यक्ष व हाल ही में निर्वाचित हुए एमएलसी चौधरी ऋषि पाल सिंह, प्रशांत बिट्टू, बबलू, गौरव शर्मा, श्यामसुंदर भारद्वाज, ऋषि पाल सिंह के 2 बेटे तपेश उर्फ विवेक चौधरी, विवांशु और विष्णु के नाम प्रकाश में आए. इस मामले में पुलिस स्तर से सुनवाई न होने पर पीड़ित ने न्यायालय की शरण ली.

Similar Posts