Uttar Pradesh: बिलासपुर पुलिस के हाथ लगी बड़ी सफलता, तस्करी के लिए लाए गए 58 कछुए बरामद; दो तस्कर गिरफ्तार

Whatsapp Image 2022 05 14 At 1.04.05 Pm

उत्तर प्रदेश के रामपुर (Rampur) जनपद में बिलासपुर पुलिस के हाथ बड़ी सफलता लगी है. पुलिस ने एक कछुआ तस्करों के गैंग को गिरफ्तार किया है. जिनके पास से 58 कछुए बरामद किए गए हैं. दो तस्कर कछुओं की तस्करी (turtle smuggling) कर उन्हे बेचने के लिए जा रहे थे. तभी कोतवाली बिलासपुर पुलिस (Uttar Pradesh Police) ने इन तस्करों की घेराबंदी कर ली. पुलिस को देख तस्करों ने भागने की कोशिश की, लेकिन पुलिस की सतर्कता के चलते कछुओं के साथ ही दोनों ही तस्करों को गिरफ्तार कर लिया है, वहीं दो तस्कर पुलिस की आंख में धूल झोंक कर फरार होने में कामयाब हो गए हैं. पुलिस ने फरार हुए आरोपियों की धरपकड़ के लिए टीम गठित कर दी है, पुलिस गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ कर रही है. साथ ही फरार तस्करों की भी तालाश की जा रही है.

दरअसल रामपुर जनपद के बिलासपुर कोतवाली पुलिस को मुखबिर ने सूचना दी कि बिलासपुर के गांव मानपुर ओझा में एक स्कूल के पीछे चार तस्करों द्वारा कछुओं की तस्करी करने की रणनीति बनाई जा रही है. जिसमें भारी मात्रा में कछुओं होने की सूचना पुलिस को मिली थी. तस्कर यहां लोगों को अंधविश्वास में लेकर कछुए बेचने का काम कर रहे थे. सूचना मिलते ही क्षेत्र अधिकारी अरुण कुमार मौके पर पहुंचे. वन विभाग की टीम और स्थानीय पुलिस ने मिलकर आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

वन विभाग और पुलिस की टीम ने रंगे हाथ तस्करों को पकड़ा

पुलिस और वन विभाग की टीम ने इस मामले को बड़े ही गंभीरता से लेते हुए तस्करों को रंगे हाथों पकड़ने की रणनीति बनाई, लेकिन पुलिस और वन विभाग की छापेमारी के दौरान दो तस्कर फरार होने में कामयाब हो गए. तस्कर पुलिस को देखते ही भागने की कोशिश करने लगे, लेकिन पुलिस ने पीछा करके दो तस्करों को मौके पर ही दबोच लिया. जबकि दो तस्कर मौका पाकर जंगल के रास्ते भागने में फरार कामयाब रहे. पुलिस ने इस छापेमारी के दौरान 58 कछुओं को बरामद किया है.

लंबे समय से की जा रही थी कछुओं की तस्करी

क्षेत्र अधिकारी अरुण कुमार ने बताया कि मुखबिर द्वारा सूचना दी गई थी कि बड़ी भारी मात्रा में कछुओं की तस्करी की घटना को अंजाम दिया जा रहा है. जिस सूचना पर तुरंत ही वन विभाग की टीम के साथ स्थानीय पुलिस बल की टीम मौके पर पहुंची. जहां पर छापेमारी के दौरान 2 लोगों को पकड़ा गया है. जिनमें एक आरोपी कुलजीत है वहीं दूसरा आरोपी का नाम राम मिश्रा है. इस पूरे प्रकरण में हेमानंद घटक और विनय मौके पर पुलिस को देखकर फरार हो गए. सभी तस्कर लंबे समय से कछुओं की तस्करी करते आ रहे थे. उन्होंने बताया कि पुलिस ने फरार दो तस्करों की गिरफ्तारी के लिए टीम गठित कर दी है. जल्दी इन दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

बता दें कि वन विभाग और पुलिस की टीम ने छापेमारी के दौरान 58 कछुए बरामद किए हैं. यह 58 कछुए अंधविश्वास को बढ़ावा देने के लिए बेचे जा रहे थे, लेकिन समय रहते पुलिस की कार्ऱवाई ने तस्करों के प्लान को फेल कर दिया. वन विभाग की टीम ने कछुओं को सुरक्षित स्थान पर शिफ्ट करा दिया है.

Similar Posts