US: क्या अब थम जाएंगी ‘गोलीबारी’ की घटनाएं? अमेरिकी सीनेट ने ‘गन कंट्रोल बिल’ को दी मंजूरी

अमेरिका (America) में गोलीबारी की घटनाओं में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. कभी चर्च तो कभी स्कूल तो कभी राहगीरों को बंदूकधारी अपनी साजिश का निशाना बना रहे हैं. हालांकि अब सरकार अंधाधुंध फायरिंग की घटनाओं को लेकर सख्त हो गई है. दरअसल, अमेरिकी सीनेट ने ‘बंदूक हिंसा’ पर रोक लगाने के उद्देश्य से पेश ‘गन कंट्रोल बिल’ (Gun Control Bill) को गुरुवार को अपनी मंजूरी दे दी. माना जा रहा था कि इस बिल को संसद की मंजूरी मिलना आसान नहीं है, लेकिन अमेरिकी सीनेट (US Senate) ने गोलीबारी की बढ़ती घटनाओं पर गंभीरता दिखाई और बिल को पास कर दिया.

इस बिल में सेमी-ऑटोमेटिक राइफल खरीदने के लिए उम्र सीमा बढ़ाने और 15 गोलियों से ज्यादा की क्षमता वाली मैगजीन की बिक्री पर प्रतिबंध का प्रावधान है. अब यह बिल प्रतिनिधि सभा में मंजूरी के लिए भेजा जाएगा. देश में बंदूक हिंसा के खिलाफ उठाया गया सांसदों का पिछले कुछ दशकों में यह सबसे बड़ा कदम है. रिपब्लिकन पार्टी हथियारों की बिक्री पर रोक लगाने के डेमोक्रेटिक प्रयासों को सालों से बाधित कर रही थी, लेकिन न्यूयॉर्क और टेक्सास में हुई गोलीबारी की घटनाओं के मद्देनजर डेमोक्रेटिक पार्टी के अलावा कुछ रिपब्लकिन सांसदों ने इस बार फैसला किया कि इस संबंध में संसद की निष्क्रियता अब स्वीकार्य नहीं है.

बंदूक खरीदारों के बैकग्राउंड की होगी जांच

दो हफ्ते तक चली वार्ता के बाद दोनों दलों के सांसदों के एक समूह ने यह बिल पेश करने संबंधी समझौता किया, ताकि इस तरह की घटनाएं देश में दोबारा न हों. 13 अरब डॉलर के इस बिल के तहत कम उम्र के बंदूक खरीदारों के बैकग्राउंड की कड़ी जांच की जाएगी और राज्यों को खतरनाक समझे जाने वाले लोगों से हथियार वापस लेने का अधिकार दिया जाएगा. इसके अलावा स्कूलों की सुरक्षा, मानसिक स्वास्थ्य एवं हिंसा की रोकथाम के स्थानीय कार्यक्रमों को फंड मुहैया कराया जाएगा.

प्रतिनिधि सभा से भी मिल सकती है मंजूरी

सीनेट में बहुमत के नेता चक शूमर ने कहा, ‘बंदूक हिंसा हमारे देश को जिन तरीकों से प्रभावित करती है, यह बिल उन सबका समाधान नहीं है. हालांकि यह सही दिशा में उठाया गया एक कदम है. बंदूक से सुरक्षा संबंधी यह विधेयक पारित करना वास्तव में जरूरी था और इससे लोगों की जान बचेगी.’ इस विधेयक को सीनेट में 33 के मुकाबले 65 मतों से पारित किया गया. बिल पारित करने के लिए 60 मतों की जरूरत थी. इसके समर्थन में डेमोक्रेटिक पार्टी के सभी 50 सदस्यों और निर्दलयीय समर्थकों के अलावा रिपब्लिकन पार्टी के 15 सदस्यों ने मतदान किया. प्रतिनिधि सभा में इस पर शुक्रवार को मतदान होने की संभावना है और वहां इस बिल का पारित होना तय माना जा रहा है.

Similar Posts