UPTET 2021 को लेकर इलाहाबाद हाई कोर्ट का बड़ा फैसला, पास हुए अभ्यर्थियों को सर्टिफिकेट जारी करने पर लगाई रोक

Allahabad High Court

उत्तर प्रदेश में इलाहाबाद हाई कोर्ट (Allahabad high court) ने 23 जनवरी 2022 को हुई UPTET-2021 में पास हुए अभ्यर्थियों को सर्टिफिकेट जारी करने पर रोक लगा दी है. हाई कोर्ट ने बीएड डिग्री धारकों को टीईटी में शामिल होने से रोकने के लिए दाखिल याचिका पर सुनवाई करते हुए यह आदेश दिया है. प्रतीक मिश्रा और अन्य की याचिका पर सुनवाई करते हुए यह आदेश जस्टिस सिद्धार्थ ने दिया है. कोर्ट ने याचिका पर राज्य सरकार से जवाब मांगा है. याचिका पर अगली सुनवाई 16 मई को होगी. याचिका में कहा गया है कि, राजस्थान हाई कोर्ट (Rajasthan High Court) ने 25 नवंबर 2021 को जारी अपने आदेश में एनसीटीई के 28 जून 2018 को जारी उस नोटिफिकेशन को रद्द कर दिया है जिसके जरिए बीएड डिग्री धारकों को प्राइमरी स्कूल में सहायक अध्यापक के रूप में नियुक्ति के लिए क्वालिफाइड करार दिया था. हाई कोर्ट ने कहा था कि बीएड डिग्री धारक प्राइमरी स्कूल लेवल शिक्षक के लिए क्वालिफाइड नहीं हो सकते.

कोर्ट ने एनसीटीई के 28 जून 2018 को जारी नोटिफिकेशन को अवैध करार दिया है. इलाहाबाद हाई कोर्ट में इसी आधार पर याचिका दाखिल कर 23 जनवरी 2022 को हुई टीईटी 2021में शामिल बीएड डिग्री धारकों का परिणाम जारी करने पर रोक लगाने की मांग की गई है.

अगली सुनवाई 16 मई को होगी

कोर्ट ने मामले की अगली सुनवाई के लिए 16 मई की तारीख दी है. साथ ही कहा है कि अगली सुनवाई तक कोई भी प्रमाण पत्र जारी नहीं किया जाएगा. UPTET 2021 की परीक्षा 23 जनवरी 2022 को हुई थी. जबकि 8 अप्रैल को इसका रिजल्ट जारी हुआ था. गौरतलब है कि प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षक बनने के लिए UPTET परीक्षा उत्तीर्ण होना अनिवार्य शर्तों में शामिल है. TET सर्टिफिकेट की मान्यता पहले 5 साल होती थी, लेकिन यूपी सरकार ने अब इसकी मान्यता आजीवन कर दी है.

6 हजार अभ्यर्थियों का रिजल्ट जारी नहीं हुआ

UPTET 2021 रिजल्ट 8 अप्रैल 2022 को जारी हुआ था. हालांकि यह पहले 25 फरवरी 2022 को जारी होने वाला था, लेकिन यूपी विधानसभा चुनाव की वजह से रिजल्ट को कुछ समय के लिए टाल दिया गया था. इस दौरान 6 हजार अभ्यर्थियों का रिजल्ट जारी ही नहीं हुआ था. दरअसल UPTET 2021 परीक्षा में शामिल हुए इन 6 हजार अभ्यर्थियों ने ओएमआर शीट भरने में छोटी सी गलती कर दी थी. इस वजह से उनकी कॉपी चेक नहीं हो पाई और उनका रिजल्ट भी घोषित होने से रह गया था.

Similar Posts