UPSC NDA में लड़कियों को पहली बार मिला मौका, बस कुछ महीने की तैयारी में टॉप कर गई हरियाणा की ये बेटी, बताया अपना सक्सेस मंत्र

Shanan Dhaka Image

UPSC NDA 2022: देश में यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन की ओर से पहली बार महिला कैडर के लिए एमडीए परीक्षा आयोजित हुई. एनडीए भर्ती के लिए हुई परीक्षा में हरियाणा के रोहतक के गांव सुंडाना की शनन ढाका (UPSC NDA Topper Shanan Dhaka) ने पहली रैंक हासिल की है. लेफ्टिनेंट के लिए चयनित शनन ढाका ने अपने सफलता का श्रेय अपने दादा सूबेदार चंद्रभान ढाका और पिता नायक सूबेदार विजय कुमार ढाका को दिया है. बता दें कि, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद पिछले साल भारत सरकार ने एनडीए (UPSC NDA Exam) में लड़कियों के प्रवेश की अनुमति दी थी. इस परीक्षा का फाइनल रिजल्ट 14 जून 2022 को जारी हुआ.

यूपीएससी एनडीए लिखित परीक्षा (UPSC NDA Exam 2021) का आयोजन 14 नवंबर 2021 को हुआ था. परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों का रिजल्ट`15 दिसंबर 2021 को जारी हुआ था. लिखित परीक्षा के बाद एसएसबी इंटरव्यू का आयोजन किया गया, जिसके फाइनल रिजल्ट 14 जून 2022 को जारी हुए. इसमें शनन ढाका ने 10वीं रैंक हासिल की है.

Indian Army में रह चुके हैं शनन के पिता और दादा

शनन ढाका को देशसेवा की प्रेरणा विरासत में मिली है. शनन के दादा चंद्रभान ढाका सेना में सूबेदार थे. इसके अलावा उनके पिता विजय कुमार ढाका ने भी भारतीय सेना में नायक सूबेदार के पद पर रहकर देश सेवा की. अपने दादा और पिता से प्रेरणा लेकर शनन ने भारतीय सेना में शामिल होने का निर्णय लिया है.

शनन की शुरूआती पढ़ाई आर्मी स्कूल से हुई है. शनन ने दिल्ली यूनिवर्सिटी के लेडी श्रीराम कॉलेज में ग्रेजुएशन कोर्स में एडमिशन लिया था. फिर एनडीए में महिलाओं को प्रवेश की अनुमति मिलने पर उन्होंने भी आवेदन किया था. शनन बताती हैं कि उन्हें पढ़ाई करने का बहुत कम समय मिला था. उन्हें सिर्फ 40 दिन तैयारी करने का मौका मिला.

SSB Interview को लेकर दिए टिप्स

यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन की ओर से महिला उम्मीदवारों के लिए पहली बार NDA परीक्षा आयोजित हुई. एनडीए दाखिले का सबसे महत्वपूर्ण पार्ट SSB Interview होता है. इसको लेकर शनन कहती हैं कि SSB इंटरव्यू में सभी के व्यवहार को अच्छे से देखा जाता है, इसलिए बनावटी व्यवहार नहीं करना चाहिए. इंटरव्यू को अधिक बोझ नहीं मानना चाहिए, बल्कि सामान्य रूप से ही लें.

शनन तीन बहनें हैं. उनसे बड़ी एक बहन जोनून ढाका मिलिट्री में नर्सिंग अफसर के पद पर तैनात हैं। उनकी ट्रेनिंग लगभग पूरी हो चुकी है. वहीं शनन से छोटी बहन अशी ढाका अभी 5वीं कक्षा में पढ़ रही हैं. उनके पिता विजय कुमार आर्मी से रिटायर हो चुके हैं.

Similar Posts