UP Board Toppers को सीएम योगी आदित्यनाथ की सलाह- ‘अपने रोज के रूटीन में शामिल करें ये दो आदतें’, बताया ये क्यों जरूरी

Up Cm Yogi Adityanath Meeting With Up Board Toppers

UP Board Toppers Meeting with CM Yogi: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने बुधवार को यूपी बोर्ड के टॉपर्स को अखबार पढ़ने की आदत डालने की सलाह दी. लखनऊ में मेधावी स्टूडेंट्स के साथ बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि नियमित रूप से अखबार पढ़ने से व्यक्ति की सामान्य जागरूकता में इजाफा होता है. सीएम ने स्टूडेंट्स को किताबें पढ़ने और लाइब्रेरी में जाने की आदत डालने की सलाह भी दी. गौरतलब है कि पिछले हफ्ते शनिवार को उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (UPMSP) ने शनिवार को 10वीं और 12वीं बोर्ड के रिजल्ट का ऐलान किया था.

सीएम योगी ने कहा, ‘स्टूडेंट्स को किताबों से परे देखना चाहिए और अपने देश एवं दुनिया में हो रहे अपडेट रहना चाहिए. इसके लिए अखबार एक बेहतर जरिया होते हैं. अखबार पढ़ना दैनिक दिनचर्या का हिस्सा होना चाहिए.’ मुख्यमंत्री ने आगे कहा, ‘अखबारों को एडिटोरियल ताजा घटनाक्रमों के बारे में अलग-अलग राय से भरे होते हैं. अलग-अलग राय और उनके विश्लेषण के जरिए आपको किसी विषय के बारे में अपना दृष्टिकोण बनाने में मदद मिलेगी. इससे आपको प्रतियोगी परीक्षाओं में भी मदद मिलेगी.’

कड़ी मेहनत का कोई विकल्प नहीं: सीएम योगी

मुख्यमंत्री योगी ने स्टूडेंट्स से टाइमटेबल का पालन करने की गुजारिश भी की. सीएम ने कहा, ‘टाइम मैनेजमेंट बहुत जरूरी होता है. जल्दी सोना और जल्दी उठना स्वस्थ मन और शरीर के लिए एक उत्तम मंत्र है. बच्चों को यह भी समझना चाहिए कि कड़ी मेहनत का कोई विकल्प नहीं है.’ मुख्यमंत्री ने माता-पिता और टीचर्स को भी एक सलाह दी. उन्होंने कहा, ‘स्कूल और घर का वातावरण दोनों ही एक बच्चे के व्यक्तित्व को आकार देने में एक प्रमुख भूमिका निभाते हैं.’

कमजोर स्टूडेंट्स के लिए आयोजित हों स्पेशल क्लास: सीएम योगी

सीएम ने माता-पिता से कहा कि वे हर साल पीएम की परीक्षा पर चर्चा को सुनें और उनकी किताब एग्जाम वॉरियर को पढ़ें. उन्होंने कहा, ‘ये किताब आपको परीक्षा संबंधी चुनौतियों से निपटने के टिप्स देगी.’ सीएम ने स्कूलों से टीचिंग के इनोवेटिव तरीके अपनाने को कहा और कमजोर स्टूडेंट्स के लिए स्पेशल क्लास आयोजित करने के निर्देश दिए. सीएम योगी ने स्कूलों से कहा कि वे स्टूडेंट्स को उनके कल्याण के लिए केंद्र और राज्य दोनों द्वारा चलाई जा रही सरकारी योजनाओं से अवगत कराएं.

Similar Posts