UP: जर्जर मकान ढहने से एक ही परिवार के 3 लोगों की मौत, 2 साल की बेटी समेत मलबे में दबे

उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में इन दिनों हो रही बारिश के चलते हादसे हो रहे है. देवरिया में आज भोर में एक मकान ढहने से एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत हो गई.

मकान ढहने से हुआ हादसा.

उत्तर प्रदेश में इन दिनों मानसून की बारिश के चलते मकान ढहने, इमारत गिरने, मकान की छत गिरने, दीवार ढहने से हादसों की खबर लगातार सामने आ रही है. ताजा हादसा देवरिया जिले में हुआ है. यहां सोमवार सुबह एक मकान ढहने से मलबे में दबकर एक परिवार के 3 लोगों की मौत हो गई. इसमें एक शख्स उसकी पत्नी और बेटी की मौत हो गई. करीब तीन घंटे की मशक्कत के बाद मलबे में दबे मासूम सहित तीन का शव निकाल लिया गया. घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस अधीक्षक समेत आला्धिकारी मौके पर पहुंचे.

पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा, उपजिलाधिकारी सदर सौरभ सिंह ने बताया कि परिवार इस मकान में करिाए पर रहता था. भोर में करीब 3 बजे मकान अचानक ढह गया. जिसमें लोग सो रहे थे लेकिन एक महिला उसमें से बाहर निकल गई. बाकी तीन लोग मलबे में दब गए. जिसमें दिलीप गोंड उम्र 35 वर्ष,पत्नी चांदनी देवी उम्र 30 वर्ष व मासूम पायल दो वर्ष शामिल हैं. दैनिक जागरण की खबर के मुताबिक तीनों लोगों की मौत हो गई. करीब तीन घंटे की मशक्कत के बाद मलबे में दबे मासूम सहित तीन का शव निकाल लिया गया.

बर्तन धोने के दौरान दीवार गिरने से मौत

इधर अमेठी में भी पिछले कई दिनों से बारिश हो रही है. जामो थाना प्रभारी निरीक्षक अखिलेश गुप्ता ने बताया कि हरगांव निवासी फूलमती (55) रविवार सुबह बर्तन धो रही थी, तभी अचानक दीवार गिर गयी. उन्होंने बताया कि मलबे में दबने के कारण महिला की मौत हो गयी. गुप्ता ने बताया कि शव का पोस्टमार्टम कराया जाएगा और पुलिस विधिक कार्रवाई कर रही है. कुछ दिन पहले उन्नाव में भी भारी बारिश के कारण कच्ची दीवार ढहने की दो घटनाओं में तीन बच्चों सहित चार लोगों की मौत हो गई थी. अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी देते हुए बताया था कि स्थानीय थाना पुलिस ने मृतकों का पंचनामा भरकर शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिए हैं। उपजिलाधिकारी नरेंद्र सिंह ने बताया कि पुरवा तहसील के असोहा विकास खंड के कांथा गांव में गुरुवार रात भारी बारिश के कारण दीवार गिरने से अंकित (20), उन्नति (6) और अंकुश (4) की मौत हो गई.

घर के टूटे हिस्से को देख रहे थे, तभी गिरी कोठी

सिंह के अनुसार, घटना की सूचना पर जिलाधिकारी अपूर्वा दुबे और पुलिस अधीक्षक (एसपी) दिनेश त्रिपाठी ने मौके पर पहुंचकर मृत बच्चों के शोक संतप्त परिवार से संवेदनाएं व्यक्त कीं और बताया कि उन्हें आपदा राहत राशि उपलब्ध कराने की कवायद की जा रही है. ग्रामीणों के मुताबिक, घटना रात दो बजे के आसपास हुई और जब मृतक बच्चों के माता-पिता कमरे से बाहर घर के क्षतिग्रस्त हिस्से को देख रहे थे, तभी कच्ची कोठी भरभरा कर गिर गई और उसमें दबकर अंकित, उन्नति व अंकुश की मौत हो गई. अधिकारियों ने बताया कि चांदपुर झलिहई थाना क्षेत्र के अजगैन गांव में भारी बारिश के कारण मकान की दीवार गिरने से बाल गोविंद (66) की मौत हो गई.

भाषा इनपुट के साथ

Leave a Reply

Your email address will not be published.