UP: गाजियाबाद में फर्जी कॉल सेंटर पर छापा, पैसा डबल करने का लालच देकर की करोड़ों की ठगी; गिरफ्तार 8 सदस्यों में से 5 नेपाली

Ghaziabad Police Raid on fake call center 8 members arrested

गाजियाबाद (Ghaziabad) थाना इंदिरापुरम से साइबर सेल पुलिस ने एक फर्जी कॉल सेंटर (Fake Call Center) का भंडाफोड़ किया है. इस दौरान ऑनलाइन गेम के जरिए रकम डबल कराने के नाम पर करोड़ों की ठगी (Fraud) करने वाले अंतरराज्यीय गिरोह के 8 सदस्य गिरफ्तार किए गए हैं. पकड़े गए आरोपियों में पांच सदस्य नेपाली के रहने वाले बताया जा रहे हैं. सभी पर पुलिस ने 420 की धारा के तहत कार्रवाई की है. यह आरोपी मिलकर ठगी का गिरोह चलाते थे. छानबीन में पता चला है कि आरोपी बल्क में मैसेज के द्वारा लिंक भेज कर पैसा कमाने का लालच देते थे. फिर ऑनलाइन गेम ऐप डाउनलोड करवाते थे और अपने फर्जी बैंक खातों में पैसा ट्रांसफर करवा लेते थे. गिरफ्तार आरोपियों पर हजारों लोगों के साथ करोड़ों रुपयों की से ठगी करने का आरोप है. पुलिस ने पकड़े गए आरोपियों के पास से चेक बुक, एटीएम, लैपटॉप, आधार कार्ड और चार लाख कैश बरामद किए हैं.

बताया जा रहा है कि पकड़े गए 8 आरोपियों में से 5 नेपाल के निवासी हैं. यह नेपाल से भारत काम की तलाश में आए थे. यहां आकर जल्दी रईस बनने के लिए इन्होंने अपना एक गैंग बनाकर कॉल सेंटर खोल दिया. लोगों से गेम खिलाने के नाम पर ठगी करने लगे. इन्होंने एक वेबसाइट बनाई और उस पर बल्क में मैसेज लोगों को भेजने शुरू कर दिए. जो लोग इनके झांसे में फंस गए, उनसे यह अपने फर्जी बैंक खातों में रकम को 2 गुना 3 गुना करने का लालच रुपए ट्रांसफर करवा लेते थे.

पिछले 2 साल से कर रहे थे लोगों से ठगी

पुलिस के मुताबिक, ये लोग पिछले 2 साल से इंदिरापुरम इलाके में अपना कॉल सेंटर चला रहे थे. बल्क मैसेज भेजकर लोगों को ठगने का काम कर रहे थे. जिसकी शिकायत पुलिस को मिली तो पुलिस ने इन पर कार्रवाई करते हुए गैंग के 8 सदस्यों को गिरफ्तार किया है.

कहीं बड़ी साजिश को अंजाम देने के लिए तो नहीं जुटा रहे थे रकम

हालांकि, पुलिस इस पर भी जांच कर रही है कि आखिर नेपाल से आकर इन्होंने फर्जी कॉल सेंटर खोलने की साजिश कैसे रची? इन नेपालियों का आखिर नेपाल कनेक्शन क्या है? इस ओर पुलिस का विशेष ध्यान है. कहीं यह लोग किसी बड़ी साजिश को अंजाम देने के लिए पैसा तो नहीं ठग रहे थे? इस पर भी पुलिस अपनी जांच कर रही है.

ठगी की रकम से करते थे शौक पूरे, 100 ATM और पैन कार्ड बरामद

पकड़े जाने के बाद पुलिस ने इनसे पूछताछ की तो पता चला कि अब तक हजारों लोगों को ठगी का शिकार बना चुके हैं. उनसे करोड़ों रुपया ठग चुके हैं. ठगी की रकम से ये सभी अपने महंगे शौक पूरा किया करते थे. इनके पास से चार लाख कैश, 100 एटीएम कार्ड, 37 मोबाइल फोन, 5 लैपटॉप, 7 सिम कार्ड, दो पासबुक, 13 चेक बुक, फर्जी मोहरे-पैन कार्ड और एक कार-एक स्कूटी बरामद की है. पुलिस अब इनके बैंक कनेक्शन की भी तलाश कर रही है. आखिर इन्होंने बैंक में फर्जी अकाउंट खोल कैसे? इन बिंदुओं पर भी पुलिस जांच कर रही है.

Similar Posts