UP: अमरोहा में जल शक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने अखिलेश यादव पर साधा निशाना, बोले- टोंटी को चोरों से बचाकर रखना

Swatantra Dev Singh (1)

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अमरोहा जिले में पहुंचे जल शक्ति मंत्री स्वतंत्र देव का पारा उस वक्त चढ़ गया. जब चौपाल कार्यक्रम के दौरान स्थानीय निवासियों ने शिकायतों का पिटारा खोल दिया. इस पर मंत्री जी के अचानक तेवर बदल गए. वहीं, बीच में ही मंच से अपने भाषण के दौरान चुटकी बजाकर जनता को नसीहत देने लगे. साथ ही कहा कि जनता को पेट काटकर बच्चों को पढ़ाने की नसीहत तक दे डाली. फिलहाल विपक्ष इस बयान को किस तरह लेता है. यह देखने वाली बात होगी और तो और बीजेपी नेता ने अपने भाषण के दौरान टोटी के बहाने जनता को सत्ता में बीजेपी को रखने की नसीहत दे डाली.

दरअसल, अमरोहा जिले के नौगांव सादात तहसील इलाके के मखदुमपुर गांव में जिला प्रशासन ने मंत्री स्वतंत्र देव सिंह का कार्यक्रम रखा था. जिस दौरान सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में मंत्री स्वतंत्र देव सिंह के सामने जनता ने शिकायतों का पिटारा खोल दिया. इस दौरान प्रशासनिक अफसरों की शिकायतें करते हुए जनता ने मंत्री स्वतंत्र देव सिंह से न्याय की गुहार लगाई है.

स्वतंत्र देव सिंह ने सपा सुप्रीमों अखिलेश यादव पर साधा निशाना

वहीं, शिकायतें सुनते सुनते जल शक्ति मंत्री का पारा चढ़ गया. इस दौरान लगे हाथों जनता को समझाने लगे कि गुटका नहीं मंगाना है और पेट काटकर बच्चों को पढ़ाना है. साथ ही टोंटी के बहाने अखिलेश पर निशाना साधते कहने लगे की मोदी जी और योगी जी अब अमरोहा जिले में घर-घर नल के जरिए पीने के लिए शुद्ध पानी पहुंचाने का काम करेंगे. जिसके लिए 2024 तक घर-घर में टोटी लगेगी. लेकिन उस टोंटी को चोरों से बचाकर रखना है. समझ गए ना मैं क्या कह रहा हूं अपने घर में लगी टोटी को बचा कर रखना है. इस दौरान टोंटी के बहाने बीजेपी के मंत्री स्वतंत्र देव सिंह अखिलेश यादव पर निशाना साधते नजर आए. इसके अलावा बीजेपी को सत्ता में वापस लाने का मंत्र फूंकते नजर आए.

फौजी का छलका दर्द, बोला- हम देश की सेवा करते हैं पर हमारा परिवार ही सुरक्षित नहीं

बता दें कि अमरोहा दौरे के दौरान जिला अस्पताल का निरीक्षण करने पहुंचे जल शक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह के सामने एक फौजी का दर्द छलक पड़ा. उसने बताया कि हम देश की सेवा करते हैं, लेकिन घर में हमारा परिवार सुरक्षित नहीं है. इस दौरान फौजी ने बुजुर्ग मां और गर्भवती पत्नी के साथ मारपीट व छेड़खानी का आरोप लगाया. पिटाई के बाद गर्भवती पत्नी इमरजेंसी में भर्ती है. इसके बावजूद पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई नहीं की. फौजी की बात सुनकर कैबिनेट मंत्री ने नाराजगी दिखाते हुए ASP को तलब कर 2 घंटे में कार्रवाई कर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए.

Similar Posts