UAE में जिंदगी और मौत के बीच झूल रहे पाकिस्तान के सैन्य तानाशाह परवेज मुशर्रफ, देश वापस लेकर आएगी सेना, तैयारी शुरू

Parvez Musharraf

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति और सैन्य तानाशाह रहे जनरल परवेज मुशर्रफ (General Pervez Musharraf) संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के एक अस्पताल में भर्ती हैं, जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है. पाकिस्तानी सेना (Pakistan Army) अब उन्हें वापस स्वदेश लाने की तैयारी में है. इस बात की जानकारी एक मीडिया रिपोर्ट में दी गई है. पाकिस्तान के स्थानीय टीवी चैनल दुनिया टीवी की एक रिपोर्ट के अनुसार, ‘सेना ने जनरल मुशर्रफ के परिवार से संपर्क किया और उनके इलाज और घर वापस लाने के लिए मदद करने का प्रस्ताव दिया है.’ रिपोर्ट में कहा गया है कि उन्हें एयर एंबुलेंस से वापस लाया जा सकता है.

चैनल के एंकर कामरान शाहिद ने एक ट्वीट में कहा है, ‘परिवार की सहमति और डॉक्टरों की सलाह के बाद जनरल मुशर्रफ को पाकिस्तान वापस लाने की सभी तैयारी की जा रही हैं. इसमें एयर एंबुलेंस भी शामिल है… संस्था (सेना) अपने पूर्व प्रमुख के साथ खड़ी है.’ 78 साल के मुशर्रफ ने 1999 से 2008 तक पाकिस्तान पर राज किया था. उनपर राजद्रेह का आरोप है और 2019 में संविधान को निलंबित करने के लिए मौत की सजा सुनाई गई थी. बाद में उनकी मौत की सजा को भी निलंबित कर दिया गया.

एमाइलॉयडोसिस से पीड़ित हैं मुशर्रफ

अब परवेज मुशर्रफ के परिवार ने पुष्टि की है कि पूर्व जनरल अभी अस्पताल में भर्ती हैं और उनके ठीक होने की उम्मीद नहीं है. उनके परिवार ने शुक्रवार को एक बयान में कहा, ‘जनरल मुशर्रफ बीते तीन हफ्ते से अपनी बीमारी (एमाइलॉयडोसिस) के कारण अस्पताल में भर्ती हैं. वह मुश्किल चरण से गुजर रहे हैं, जहां उनकी रिकवरी संभव नहीं है और अंग खराब हो रहे हैं. उनके लिए दुआ करें.’ एमाइलॉयडोसिस की बात करें, तो यह एक दुर्लभ बीमारी है. जिसमें अंगों में असामान्य प्रोटीन बनने लगता है और उनके सामान्य कार्य करने की संभावना कम हो जाती है. मुशर्रफ एमाइलॉयडोसिस नामक जानलेवा बीमारी से 2018 में यूएई में ग्रसित हुए थे.

मुशर्रफ मार्च 2016 में अपने इलाज के लिए दुबई के लिए निकले थे और तभी से वापस नहीं लौटे हैं. शनिवार को पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ ने कहा, ‘जनरल मुशर्रफ की खराब हालत को देखते हुए उन्हें घर वापस लाने में कोई दिक्कत नहीं आनी चाहिए. इस मामले में पुरानी घटनाओं का हस्तक्षेप नहीं होना चाहिए.’ इससे पहले दिन में, मुशर्रफ के करीबी सहयोगी और पूर्व सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने बताया था कि उनकी हालत नाजुक बनी हुई है. उन्होंने बताया कि मुशर्रफ को वेंटिलेटर पर रखा गया है.

Similar Posts