Sun Transit in Gemini: सूर्य के मिथुन राशि में गोचर से कन्या और तुला राशि की चमकेगी किस्मत, जानें अपनी भी राशि का हाल

Sun Transit In Gemini

नवग्रहों (Navgrah) के राजा माने जाने वाले सूर्य आज वृष राशि से निकलकर मिथुन राशि में गोचर करेंगे. सूर्य के इस राशि परिवर्तन से सभी नक्षत्रों में राशियों की दिशा भी बदल जाती है. इस घटना को संक्रांति के नाम से जाना जाता है. मिथुन संक्रांति (Mithun Sankranti) के बाद प्रकृति में बदलाव आता है. ऐसे में इस दिन सूर्य नारायण (Lord Sun) की साधना-आराधना करने पर शुभ फल की प्राप्ति होती है. जाने-माने ज्योतिषविद् पं. रमेश सेमवाल के अनुसार सूर्य की संक्रांति 15 जून 2022 को बुधवार की दोपहर 12:03 मिनट पर सिंह लग्न में प्रवेश करेगी. इस सक्रांति का पुण्यकाल प्रात:काल 05:39 से लेकर मध्याह्न तक रहेगा. आइए सूर्य के मिथुन राशि में गोचर का 12 राशियों पर कैसा प्रभाव पड़ेगा, इसे विस्तार से जानते हैं –

मेष

मिथुन राशि में गोचर के दौरान सूर्य तृतीय भाव में होंगे. जिससे मेष राशि के जातकों में आत्मविश्वास और पराक्रम बढ़ेगा. हालांकि घर-परिवार में कुछेक चुनौतियों का सामना भी करना पड़ेगा. इस दौरान आपका छोटे भाई-बहन के साथ विवाद हो सकता है. करिअर-कारोबार के लिए यह समय शुभ साबित होगा.

वृषभ

सूर्य के मिथुन राशि में गोचर के कारण वृषभ राशि के जातकों को कुछेक परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है. इस दौरान इस राशि के जातकों को अपनी वाणी और व्यवहार पर नियंत्रण रखने की जरूरत रहेगी. क्रोध करने से बचें और गुस्से में आकर कोई बड़ा फैसला न लें. इस दौरान वाहन सावधानी के साथ चलाएं.

मिथुन

सूर्य का गोचर आपकी राशि में होगा ऐसे में आपके भीतर क्रोध और तनाव में बढ़ोत्तरी होगी. हालांकि करिअर और कारोबार में बढ़ोत्तरी होगी और अटके हुए कार्य पूरे होंगे. जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में मनचाही सफलता प्राप्त होगी.

कर्क

कर्क राशि के द्वादश भाव में सूर्य का गोचर उनके लोगों के लिए शुभ साबित होगा, जो विदेश से जुड़े कार्य करते हैं या विदेश में जाने के लिए इच्छुक हैं. हालांकि कर्क राशि के जातकों को इस दौरान अपनी सेहत का विशेष ख्याल रखना होगा. नेत्र कष्ट की आशंका है. इस दौरान कोर्ट-कचहरी के विवाद से दूर रहें.

सिंह

सूर्य सिंह राशि के स्वामी हैं, जो कि एकादशा भाव में होंगे. जिसके कारण सिंह राशि के जातकों को आर्थिक लाभ होगा और धन लाभ के योग बनेंगे. मान-प्रतिष्ठा बढ़ेगी. राजनीति में सफलता के पूरे योग हैं. मनचाहा पद या महत्वपूर्ण जिम्मेदारी मिल सकती है. व्यवसाय में लाभ और बढ़ोत्तरी होगी.

कन्या

सूर्य कन्या राशि से दशम भाव में संचार करेंगे. जिससे इन्हे शुभ फलों की प्राप्ति होगी. दशम भाव में सूर्य आपके सारे मनोरथ पूरे और कार्य सिद्ध करेंगे. इस दौरान आपको सूर्यदेव की कृपा से बुद्धि-बल प्राप्त होगा और सभी इष्टमित्रों और परिजनों का सहयोग मिलेगा. रोजी-रोजगार की तलाश में भटक रहे लोगों की मनोकामना पूरी होगी. हालांकि इस दौरान आपको अपने पिता की सेहत का थोड़ा ज्यादा ख्याल रखना होगा.

तुला

सूर्य तुला राशि के भाग्य भाव में गोचर करेंगे, जिससे इने जीवन से सभी अड़चनें दूर होंगी और करिअर-कारोबार में मनचाही सफलता और लाभ प्राप्त होगा. इस दौरान आपको सौभाग्य का पूरा साथ मिलेगा. इस दौरान की जाने वाली यात्रा सुखद एवं लाभदायक साबित होगी. जो लोग सरकार नौकरी के लिए प्रयासरत हैं, उन्हें शुभ समाचार प्राप्त हो सकता है.

वृश्चिक

अष्टम स्थान के सूर्य के गोचर से वृश्चिक राशि के जातकों को जीवन में कुछेक परेशानियों का सामना करना पड़ेगा. इस दौरान क्रोध में बढ़ोत्तरी होगी. ऐसे में किसी के साथ बहसबाजी से बचें और खुद को तमाम तरह के विवादों से दूर रखें. स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतें हो सकती हैं, ऐसे में अपने सेहत का भी खूब ख्याल रखें.

धनु

धनु राशि के सप्तम स्थान में सूर्य का गोचर होगा. जिससे इनका दांपत्य जीवन प्रभावित होगा. इस दौरान धनु राशि के जातकों का जीवनसाथी के साथ विवाद हो सकता है. ऐसे में लाइफ पार्टनर के साथ किसी भी मामले को सुलझाते समय संवाद का सहारा लें और क्रोध करने से बचें. घर और बाहर खुद को तमाम तरह के विवाद से दूर ही रखना उचित रहेगा.

मकर

मकर राशि से सूर्य का गोचर छठे स्थान पर होगा. जिसके कारण मकर राशि के जातकों के आत्मविश्वास में थोड़ी कमी आएगी और आलस्य बढ़ेगा. इस दौरान आपके कामकाज में कुछेक बाधाएं आ सकती हैं, जिसके कारण आपको परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है.

कुंभ

कुंभ राशि से सूर्य का गोचर पांचवें स्थान पर होगा. इस राशि के लोगों के प्रेम संबंध प्रगाढ़ होंगे और लव पार्टनर से कोई बड़ी खुशखबरी सुनने को मिल सकती है. कुल मिलाकर कुंभ राशि के जातकों को प्रेम संबंध से लाभ होगा. हालांकि संतान पक्ष से जुड़ी कोई चिंता सताएगी. छात्रों को उनके परिश्रम का पूरा फल प्राप्त होगा.

मीन

सूर्य का गोचर मीन राशि से चतुर्थ स्थान पर होगा. जिसके कारण इस राशि के जातकों को भूमि-भवन और पैतृक संपत्ति का विवाद झेलना पड़ सकता है. इस दौरान आपकी चुनौतियां बढ़ेंगी. हालांकि इस दौरान आपको वाहन सुख प्राप्त हो सकता है. माता की सेहत कुछेक परेशानियां आ सकती हैं. ऐसे में उनकी सेहत का विशेष ख्याल रखें.

उपाय – सूर्य नारायण की प्रतिदिन पूजा करें और लाल वस्तु का दान करें.

Similar Posts