Serial Twists : टीवी की दुनिया में होगा ‘डबल-ट्रबल’, ‘भाबी जी घर पर हैं’ से लेकर ‘हप्पू की उलटन पलटन’ तक शो में आएंगे नए ट्विस्ट

Bal Shiv, Bhabi Ji Ghar Par Hai, Happu Singh

टीवी की दुनिया के अलग-अलग शोज के किरदार इस हफ्ते डबल ट्रबल में फंसकर दर्शकों को मनोरंजन की अतिरिक्त खुराक देने वाले हैं. बाल शिव (Bal Shiv) की कहानी के बारे में महासती अनुसुइया ने कहा, नवरात्रि पूजा के दौरान देवी पार्वती महासती अनुसुइया के लिये प्रसाद भेजती हैं, लेकिन अजामुखी (सृष्टि माहेश्वरी) उसमें विष डाल देती है और वह प्रसाद खाकर अनुसुइया मूर्छित हो जाती हैं.” देव और नारायण अपनी शक्तियों से उन्हें ठीक करने का प्रयास करते हैं, लेकिन विफल होते हैं. बाल शिव (आन तिवारी) को जब इस दुर्घटना के बारे में पता चलता है, तब वह गंधमदान पर्वत की ओर जाते हैं, ताकि अनुसुइया को ठीक करने के लिये औषधि ला सकें. क्या बाल शिाव उन्हें बचा पाएंगे? यह देखना दिलचस्प होगा.

और भई क्या चल रहा है?

और भई क्या चल रहा है? की कहानी के बारे में शांति मिश्रा ने कहा, मिर्ज़ा और मिश्रा अपना दैनिक भविष्यफल पढ़ने के बाद से परेशान हैं. हालांकि उनके अलावा मोहल्ले में हर कोई क्रिकेट खेलने का आनंद उठा रहा है. फिर बिट्टू (अन्नू अवस्थी) एक बुरी खबर लेकर आता है जिससे मिश्रा और मिर्ज़ा की परेशानी और बढ़ जाती है. बिट्टू मिर्ज़ा और मिश्रा को एक क्रिकेट मैच की चुनौती देता है और कहता है कि जो भी इस मैच में हारेगा, उसे अपना घर छोड़ना होगा. अब क्या वह अपनी हवेली को बचा पाएंगे? इस का खुलासा अब तक नहीं हुआ है.

हप्पू की उलटन पलटन

एण्डटीवी के हप्पू की उलटन पलटन की कहानी के बारे में हप्पू सिंह ने कहा, डीआईजी, हप्पू सिंह (योगेश त्रिपाठी) और मनोहर को गैंगस्टर राका को पकड़ने का निर्देश देते हैं. राका अपना हुलिया बदलने के लिए मशहूर है. डीआईजी वादा करते हैं कि जो भी राका को पकड़ेगा उसे ईनाम के तौर पर प्रमोशन मिलेगा और जो नाकामयाब होगा, उसका डिमोशन हो जाएगा. हप्पू तैयारी में जुट जाता है और सब को बता देता है कि राका को गिरफ्तार करने से उसका प्रमोशन होगा.

भाबीजी घर पर हैं

एण्डटीवी के भाबीजी घर पर हैं की कहानी के बारे में अनीता भाबी ने कहा,विभूति (आसिफ शेख) के बेरोजगार होने के कारण अनीता (विदिशा श्रीवास्तव) सबके सामने उसकी बेइज्जती करती है. जिसके बाद वह अंगूरी (शुभांगी अत्रे) से सहानुभूति पाने की कोशिश करता है अनीता अपने निजी संपर्क से विभूति को विनोद वर्मा के यहां स्टाफ मैनेजर बनवा देती है. टीएमटी भी डाॅक्टर, मास्टरजी और प्रेम के साथ काम करना शुरू कर देते हैं. सके बाद चतुर्वेदी नाम का एक आदमी आता है और सबको बेरोजगार लोगों के लिये सरकार के 35,000 रूपये के भत्ते के बारे में बताता है. लालच के कारण सभी इस्तीफा देकर अपनी नौकरी छोड़ने लगते हैं और विभूति की नौकरी भी चली जाती है.

Similar Posts