Sarkari Naukri 2022: एसएससी जल्द जारी करेगा 70 हजार खाली पदों पर वैकेंसी, केंद्र सरकार के विभागों में भरे जाएंगे खाली पद

Ssc Recruitment 2022

Central Government Job 2022: स्टाफ सेलेक्शन कमीशन जल्द ही 70 हजार पदों पर भर्तियां निकालने वाला है. इन भर्तियों को सरकारी नौकरी (Sarkari Naukri) क्रांति के तौर पर देखा जाना चाहिए. 14 जून को ही केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा था कि केंद्र सरकार के विभिन्न विभागों में खाली पदों पर जल्द भर्तियां की जाएंगी. उस वक्त ऐसी खबरें आई थी कि केंद्रीय सरकार के विभिन्न विभागों में लगभग 10 लाख पद खाली हैं, जिसको भरने के लिए प्रधानमंत्री ने 18 महीने की डेडलाइन तय कर दी है. इसके तहत जो भी भर्तियां होंगी 18 उन्हें महीने के अंदर पूरा करना होगा. भर्ती पूरी करने से मतलब, नोटिफिकेशन और नियुक्ति से है.

प्रधानमंत्री के इसी आदेश और निर्देश के अनुपालन में स्टाफ सेलेक्शन कमीशन (SSC) ने कहा है कि जल्द ही नई भर्तियों का नोटिफिकेशन जारी होगा. स्टाफ सेलेक्शन कमीशन केंद्र सरकार के ग्रुप बी और उससे नीचे के पदों पर भर्ती (Central Govt Job 2022) के लिए परीक्षाएं आयोजित करता है. यह आयोग देश भर में प्रतियोगी परीक्षाओं के जरिए कैंडिडेट्स का चयन करता है, और फिर उन्हें केंद्र के अलग अलग विभागों में भेज देता है.

PM Modi ने ट्वीट कर दी थी जानकारी

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि 18 महीने के अदंर 10 लाख भर्तियां करनी है, इसमें से ज्यादातर भर्तियां ग्रुप बी और उससे नीचे की हैं, इसलिए इन भर्तियों को पूरा करने की जिम्मेदारी स्टाफ सेलेक्शन कमीशन की है. सवाल यह है कि क्या स्टाफ सेलेक्श कमीशन 18 महीने में भर्तियां पूरी करवा लेगा? इसका जवाब जवाब जानने के लिए एसएससी का ट्रैक रिकॉर्ड समझिए.

SSC Recruitment Records: एसएससी का ट्रैक रिकॉर्ड

SSC की वेबसाइट पर भर्तियों की वार्षिक रिपोर्ट पब्लिश होती है. हमने भर्तियों के सिर्फ 3 कैलेंडर वर्ष को खंगाला है. साल 2020-21 में एसएसी ने 15 भर्ती परीक्षाएं करवाईं, इसमें 42,41,728 युवाओं ने परीक्षा दी. 2020-21 में सिर्फ 5 भर्ती प्रक्रिया पूरी हुईं. इसमें 68,891 कैंडिडेट्स को सेलेक्ट किया गया.

साल 2019-20 में एसएससी ने 18 भर्ती परीक्षाएं करवाईं, इसमें 61,54,723 कैंडिडेट शामिल हुए. 18 भर्तियों में से सिर्फ 3 भर्ती प्रक्रिया पूरी हुई और 14,594 कैंडिडेट को फाइनल नियुक्ति के लिए सेलेक्ट किया गया. वहीं, 2018-19 में एसएससी ने 10 भर्ती परीक्षाएं आयोजित की, जिसमें 36,81,155 कैंडिडेट शामिल हुए . इस साल सिर्फ 5 भर्ती प्रक्रियाएं पूरी हुईं, इसमें से कुछ 2017-18 की भी थी. साल 2017-18 और 2018-19 में 16,729 कैंडिडेट को सेलेक्ट किया गया.

18 माह में 10 लाख नौकरियां

भर्तियां पूरी कराने के मामले में स्टाफ सेलेक्शन कमीशन का ट्रैक रिकॉर्ड बेहद ही खराब है. एसएससी ने अपनी रफ्तार नहीं बढ़ाई तो 18 महीने के अंदर नियुक्ति का दावा सिर्फ दावा बनकर रह जाएगा. हालांकि SSC का काम सिर्फ कर्मचारियों का चयन करना होता है, उन्हें नियुक्ति सरकार देती है, कई बार सरकारी उदासीनता की वजह से सेलेक्टेड कैंडिडेट भी नियुक्ति नहीं पाते.

SSC GD 2018 सरकारी उदासीनता सबसे कष्टकारी उदाहरण है. SSC GD 2018 के सैकड़ों कैंडिडेट सभी परीक्षाएं पास करने के बाद भी अभी तक नियुक्ति का इंतजार कर रहे हैं. युवाओं का एक ग्रुप सरकार से नियुक्ति की मांग करते हुए नागपुर से दिल्ली तक पैदल मार्च कर रहा है. इन युवाओं का कहना है कि इन्हें नियुक्ति पत्र नहीं दिया जा रहा है, अपनी बात सरकार तक पहुंचाने के लिए नागपुर से दिल्ली पैदल आ रहे हैं.

Similar Posts