Russia Ukraine War: जारी रहेगी खूनी जंग! शांति वार्ता पर बोला रूस- ‘यूक्रेन के पाले में है गेंद, हम कर रहे इंतजार’

Blast

रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध (Russia Ukraine War) को दो महीने पूरे होने जा रहे हैं और इसके खत्म होने के कोई संकेत नहीं दिख रहे. खासतौर पर तब, जब एक दिन पहले ही रूस ने विशेष सैन्य अभियान के दूसरे राउंड (Russia Attacks Ukraine) की घोषणा की है. दरअसल रूस यूक्रेन पर हमले को आक्रमण ना कहकर उसे विशेष सैन्य अभियान बता रहा है. रूसी राष्ट्रपति के कार्यालय क्रेमलिन ने बुधवार को कहा है कि उसने कीव (यूक्रेन) को एक मसौदा दस्तावेज भेजा है, जिसमें शांति वार्ता (Russia Ukraine Peace Talks) के हिस्से के रूप में रूस की मांगों को स्पष्ट रूप से बताया गया है.

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, क्रेमलिन के प्रवक्ता दमित्री पेसकोव ने कहा कि ‘गेंद अब उनके पाले में है’ और रूस ‘अब प्रतिक्रिया का इंतजार’ कर रहा है. पोसकोव ने कहा कि वह अधिक जानकारी नहीं देना चाहते लेकिन कहा कि कीव लगातार पुराने समझौतों से भटक रहा है. उन्होंने कहा, ‘यूक्रेन की वार्ता प्रक्रिया को तेज करने के लिए झुकाव नहीं दिखा रहे हैं.’ वहीं दूसरी ओर बीते महीने तुर्की के इस्तांबुल में यूक्रेन ने रूस को अपनी तरफ से भी एक मसौदा दिया था. जहां दोनों पक्षों के बीच युद्ध खत्म करने को लेकर चर्चा हुई थी. हालांकि ये अभी तक स्पष्ट नहीं है कि दोनों पक्षों ने तब के बादे से अभी तक कितनी बार बात की है.

फरवरी से जारी है युद्ध

रूस ने 24 फरवरी को यूक्रेन पर पहला हमला किया था. जिसके चलते अभी तक 50 लाख लोग इस युद्धग्रस्त देश को छोड़कर चले गए हैं. ये जानकारी संयुक्त राष्ट्र की शरणार्थी एजेंसी ने दी है. युद्ध से पहले यूक्रेन की आबादी 4.41 करोड़ थी. यूएनएचसीआर ने कहा कि युद्ध के बाद 70 लाख से अधिक लोग देश के भीतर विस्थापित हुए हैं. जबकि 50 लाख लोगों ने देश छोड़ दिया है. एजेंसी ने बताया कि अन्य 1.3 करोड़ लोग अब भी युद्ध ग्रस्त इलाकों में फंसे हुए हैं. मारियुपोल शहर को भी रूस ने कुछ घंटों में अपने कब्जे में ले लिया.

मानवीय गलियारे खोल गए

रूस और यूक्रेन के बीच बढ़ती जंग के बीच आम नागरिकों की निकासी के लिए मानवीय गलियारे खोलने का फैसला लिया गया था. बंदरगाह शहर मारियुपोल से आम नागरिकों को निकालने के लिए भी गलियारे शुरू किए गए. ये शहर का काफी महत्व है इसलिए रूस ने इसे अपने कब्जे में लिया है. ये शहर यूक्रेन के दक्षिण और पू्र्वी क्षेत्रों को आपस में जोड़ने का काम करता है. यहां अब रूसी सेना और उसके अलगाववादियों का कब्जा है.

Similar Posts