Russia Ukraine War: चोरी हुए एयरपॉड से यूक्रेन के व्यक्ति ने रूसी सैनिकों का लगा लिया पता

Airpods

रूस लगातार यूक्रेन पर हमले कर रहा है. रूसी सैनिक पहले से ही यूक्रेन के शहरों में घुसकर लोगों को निशाना बना रहे हैं. ऐसे में यूक्रेन के लोगों ने देश छोड़ना शुरू कर दिया था. लेकिन कुछ लोग ऐसे भी थे जो देश छोड़कर जाने को तैयार नहीं हुए. इस बीच एक ऐसे व्यक्ति के बारे में पता चला है, जिसने रूसी सैनिकों की लोकेशन पता करने के लिए अपने चोरी हुए एयरपॉड की मदद ली. इसके लिए उसने एप्पल स्टोर पर उपलब्ध ‘फाइंड माई’ फीचर का इस्तेमाल किया.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इस व्यक्ति का नाम विताली सेमेनेट्स है. उसने जानकारी दी है कि जब रूस के सैनिकों ने शुरुआत में यूक्रेन पर हमला बोला था, तब होस्टोमेल में स्थित उसके घर से उसके एप्पल के ब्लूटूथ इयरबड्स चोरी हो गए थे. ऐसे में वह परेशान हो गया था. उसने इसके बाद इन एयरबड्स को खोजने की ठानी. इसके लिए उसने एप्पल स्टोर में उपलब्ध फाइंड माई फीचर का इस्तेमाल किया. इसके जरिये उसने रूसी सैनिकों की लोकेशन के बारे में भी पता किया.

सबसे पहले बेलारूस में पता चली थी लोकेशन

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सेमेनेट्स ने सबसे पहले अपने एयरपॉड को तब ट्रैक किया था, जब उनकी लोकेशन सीमा पार बेलारूस में दिखी थी. इसके बाद तब उनके बारे में पता चला था, जग उनकी लोकेशन बेलगोरोड में थी. बेलगोरोड रूस का एक शहर है. इसी शहर में डोनबास पर बड़े हमले के लिए रूसी सैनिक खुद को तैयार कर रहे थे. यूक्रेन के इस व्यक्ति ने अपनी इस सफलता की ट्रिक भी अपने इंस्टाग्राम पर शेयर की है. इसके साथ उसने लिखा है, ‘टेक्नोलॉजी का आभार, मैं जानता हूं कि मेरे एयरपॉड कहां हैं.’

यूक्रेन के घरों से कीमती सामान ले जा रहे हैं रूसी सैनिक

वहीं इस तरह की भी कई रिपोर्ट आई हैं कि यूक्रेन पर हमले के दौरान रूसी सैनिकों ने घरों से काफी कीमती सामान भी चुराया है. विशेषज्ञों का कहना है रूसी सैनिकों में अनुशासन की कमी है तभी वे ऐसी घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं. इस तरह के कई सीसीटीवी फुटेज भी देखने का मिले हैं, जिनमें देखा जा सकता है कि रूसी सैनिक बेलारूस के पोस्ट ऑफिस में वॉशिंग मशीन, लैपटॉप और ई-स्कूटर्स को अपने परिवारवालों को भेजने के लिए पैक कर रहे हैं.

16 सैनिक ले गए 2 टन माल

कहा जा रहा है कि 16 रूसी सैनिकों की ओर से 2 टन माल समुद्री जहाजों के जरिये यूक्रेन से ले जाया गया है. यह भी रिपोर्ट सामने आ चुकी है कि यूक्रेन की सुरक्षा सेवाओं के अफसरों की ओर से इंटरसेप्ट की गई कॉल में पता चला था कि एक रूसी सैनिक को उसके एक रिश्तेदार ने शॉपिंग लिस्ट भी पकड़ाई थी. इसमें लैपटॉप, स्नीकर्स और कपड़े समेत कई अन्य सामान भी शामिल थे.

Similar Posts