Russia: रूस के डिफेंस रिसर्ट सेंटर में लगी भीषण आग, जान बचाने के लिए खिड़कियों से कूदे लोग, छह की मौत

Fire S

उत्तरी-पश्चिमी रूसी शहर त्वेर स्थित एक रक्षा अनुसंधान केंद्र (Russian Defence Research Facility) में बृहस्पतिवार को आग (Fire) लगने से इमारत में फंसे लोग खिड़कियों से छलांग लगाने लगे. आग लगने के कारण छह लोगों की मौत हो गई, जबकि 27 से अधिक लोग घायल हुए हैं. शहर (Tver City Fire) के प्रशासन ने यह जानकारी दी. एअरोस्पेस डिफेंस फोर्सेस सेंट्रल रिसर्च इंस्टीट्यूट के प्रशासनिक भवन में सबसे पहले आग लगी, जिसने तेजी से इमारत की ऊपरी तीन मंजिलों को अपनी चपेट में ले लिया.

इसके बाद इमारत में रह रहे लोग खिड़कियों से छलांग लगाने लगे और छत धंसने लगी. इस संस्थान का संचालन रूसी रक्षा मंत्रालय के तहत किया जाता है. क्षेत्रीय सैन्य अधिकारी मामले की जांच कर रहे हैं. सरकारी समाचार एजेंसी तास ने कहा कि शुरुआती जांच इस बात की ओर इशारा कर रही है कि आग का कारण बहुत पुरानी वायरिंग हो सकती है. रूसी रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट के मुताबिक यह संस्थान हवाई और अंतरिक्ष रक्षा से संबंधित अनुसंधान पर काम करता है, जिसमें नई विमान-रोधी प्रणाली विकसित करना शामिल है.

10 लोगों के लापता होने की खबर

गार्जियन ने अपनी रिपोर्ट में मरने वालों की संख्या सात बताई है. उसने स्थानीय अधिकारियों के हवाले से कहा है कि कम से कम 10 लोग लापता हैं. रिपोर्ट के अनुसार, मृतकों की संख्या पहले पांच बताई गई, जिसे बाद में सात बताया गया. इमारत में आग लगने से जुड़े वीडियो सोशल मीडिया पर खूब शेयर किए जा रहे हैं. ये जगह राजधानी मॉस्को से 160 किलोमीटर उत्तर पश्चिम में है. जहां से धुआं और आग की लपटें निकलती हुई देखी गई हैं. इससे पहले कुछ अपुष्ट रिपोर्ट आई थीं कि रूस के एक बड़े केमिकल प्लांट में आग लग गई है.

केमिकल प्लांट में लगी आग

सोशल मीडिया पर शेयर की जा रही तस्वीरों के अनुसार, मॉस्को के 400 किलोमीटर उत्तर-पश्चिम में किनसेहमा में दमित्रीवस्की केमिकल प्लांट में भीषण आग लग गई है. इमारत से धुआं निकलता भी दिखाई दे रहा है. वेबसाइट के अनुसार, यह प्लांट रूस और पूर्वी यूरोप का ब्यूटाइल एसीटेट और औद्योगिक सॉल्वैंट्स का सबसे बड़ा उत्पादक है. आग लगने के कारणों की जानकारी आधिकारिक तौर पर नहीं दी गई है. वहीं त्वेर में लगी आग की बात करें, तो शुरुआती रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि स्थानीय सैन्य अभियोजक घटना के कारणों की जांच कर रहे हैं. रूस में आग लगने की घटनाएं ऐसे वक्त पर हो रही हैं, जब उसका यूक्रेन के साथ भीषण युद्ध चल रहा है.

Similar Posts