RBI के लिए नोट छापना कितना महंगा हुआ, क्यों 2000 के नोटों की छपाई हुई बंद? जानें किस नोट को छापने में कितना खर्च आता है

Rbi Currency Notes

देश में बढ़ती महंगाई (Inflation) से आम लोगों का बुरा हाल है. खाने-पीने की चीजों से लेकर जरूरत के अन्य सामान भी काफी महंगे हो गए हैं, जिनके लिए ज्यादा रुपये खर्च करने पड़ रहे हैं. लेकिन इन सामानों को खरीदने के लिए आप जो नोट खर्च कर रहे हैं, वह भी महंगा हो गया है! दरअसल, बढ़ती महंगाई के बीच नोटों की छपाई भी महंगी हो गई है. केंद्रीय बैंक आरबीआई (RBI) को नोट छापना भी महंगा पड़ रहा है. हाल ही में भारतीय रिजर्व बैंक से आरटीआई (RTI) के तहत पूछे गए सवालों के जवाब में यह खुलासा हुआ है. खासकर 200 रुपये के नोटों की लागत सबसे ज्यादा महंगी पड़ रही है.

10 रुपये के नोट से लेकर 500 रुपये के नोट तक की छपाई आरबीआई को महंगी पड़ रही है. यानी इन रुपयों का कॉस्ट पहले की अपेक्षा ज्यादा पड़ रही है. RTI के जवाब में केंद्रीय बैंक ने हर तरह के नोटों की छपाई की लागत के बारे में बताया है.

किन नोटों की छपाई में कितना आता है खर्च?

  1. 10 रुपये के 1000 के नोट छापने का खर्च – 960 रुपये
  2. 20 रुपये के 1000 के नोट छापने का खर्च – 950 रुपये
  3. 100 रुपये के 1000 नोटों की छपाई में खर्च – 1,770 रुपये
  4. 200 रुपये के 1000 नोटों की छपाई में खर्च- 2,370 रुपये
  5. 500 रुपये के 1000 नोटों की छपाई में खर्च- 2,290 रुपये

स्टोरी अपडेट हो रही है.

Similar Posts