Rajasthan: रेप के आरोपी को कोर्ट ने बरी कर…पीड़ित महिला को भेजा जेल, वजह सुनकर हर कोई चौंक गया

Rape Victim

राजस्थान के उदयपुर (udaipur) में बलात्कार के एक मामले में पॉक्सो कोर्ट (pocso court) ने अपने फैसले से हर किसी को हैरान कर दिया. गुरुवार को एक रेप मामले में सुनवाई करते हुए पॉक्सो कोर्ट के जज ने आरोपी (rape accused) को बरी करने का फैसला सुनाया वहीं रेप का आरोप लगाने वाली महिला (rape victim) को ही दोषी माना. कोर्ट ने महिला को सजा भी सुनाई. कोर्ट के मुताबिक महिला ने रेप का झूठा केस किया और कोर्ट के सामने गवाही देने समय अपने बयानों से ही मुकर गई इसके बाद महिला को कोर्ट में झूठा केस (fake rape case) ले जाने के लिए 3 महीने की जेल और 500 रुपए जुर्माने की सजा सुनाई गई है. अभियोजन पक्ष के वकील ने जानकारी दी कि उदयपुर के अम्बामाता की रहने वाली 19 वर्षीय महिला पायल पुजारी ने कोर्ट में झूठी जानकारी दी और बयान से मुकरने के बाद उन्हें धारा 344 के तहत दोषी माना गया. हालांकि कोर्ट ने महिला को हाईकोर्ट में अपील करने के लिए एक महीने का समय दिया है नहीं उसे जेल भेज दिया जाएगा.

कोर्ट में मुकर गई पीड़ित महिला

महिला से रेप मामले में राज्य सरकार की ओर से पैरवी करने वाले स्पेशल पीपी रहे चेतन पुरी गोस्वामी ने बताया कि महिला कोर्ट में लगातार अपने बयान से मुकरती रही और पीड़िता ने न्यायालय में झूठा शपथ पत्र भी दिया. वकील ने बताया कि महिला 161 और 164 के आधार पर दिए बयानों से पूरी तरह से मुकर गई थी जिसके चलते कोर्ट ने पीड़िता को धारा 344 का दोषी माना.

इसके अलावा इस मामले में पीड़िता ने अंबामाता थाना पुलिस पर ही सवाल खड़े कर दिए. गोस्वामी ने आगे बताया इस तरह के मामलों से कोर्ट और पुलिस का समय और पैसा दोनों बर्बाद होता है.

क्या था मामला

बता दें कि पिछले साल मई में पीड़िता पायल ने नवीन कुमार नाम के एक व्यक्ति पर रेप का आरोप लगाते हुए पुलिस में शिकायत दी थी. पीड़िता महिला ने पुलिस को बताया था कि आरोपी नवीन ने उसे कोल्डड्रिंक में नशीला पदार्थ पिलाकर उसके साथ बलात्कार किया है.

महिला ने यह भी बताया कि आरोपी ने उसका वीडियो भी बनाया है जिसे वायरल करने की धमकी भी दी गई है. महिला ने पुलिस के सामने धारा 164 के तहत दिए बयानों में यह बात कही थी. वहीं दूसरी तरफ महिला के बयानों के आधार पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए नवीन कुमार को गिरफ्तार कर लिया था जिसके बाद उसे 6 महीने जेल में बिताने पड़े.

Similar Posts