Rajasthan: क्या प्रदेश में फिर पांव पसार रहा है कोरोना, जानिए बीते 24 घंटों में कहां मिले कितने कोरोना मरीज

Covid Rajasthan

देश की राजधानी दिल्ली समेत कई हिस्सों में कोरोना के नए मामले सामने आने से एक बार फिर चिंता बढ़ने लगी है. वहीं अगर राजस्थान की बात करें तो बीते मंगलवार प्रदेश में कोरोना के 23 नए (rajasthan covid-19 update) मामले सामने आए जिसके बाद कोरोना संक्रमितों (jaipur corona case) की कुल संख्या बढ़कर 12,83,226 पहुंच गई है. इससे पहले सोमवार को राज्य में कोरोना संक्रमण के 12 नए मामले सामने आए थे. हालांकि पिछले 24 घंटों में किसी की मौत की सूचना नहीं आई है. राज्य में अब सक्रिय मामलों (covid-19 active cases) की संख्या 105 से बढ़कर 113 हो गई है. वहीं अगर राजधानी जयपुर की बात करें तो यहां कोरोना के सबसे अधिक सक्रिय मामले हैं, जयपुर में 95 सक्रिय मामले हैं, जो राज्य के कुल सक्रिय मामलों का 84 फीसदी हिस्सा है.

जयपुर में सबसे अधिक नए मरीज

राजधानी जयपुर में पिछले 24 घंटों में 18 नए कोरोना मरीज मिले हैं. वहीं अगर जिलेवार देखें तो धौलपुर में तीन और उदयपुर और बीकानेर से एक-एक मरीज मिला है. जयपुर में गांधी नगर से तीन मरीज, जवाहर नगर और मानसरोवर से दो-दो मामले वहीं जबकि बापू नगर, जगतपुरा, जयसिंहपुरा खोर, झोटवाड़ा, निर्माण नगर, सांगानेर, सिरसी रोड, सोडाला, त्रिवेणी नगर से एक-एक नया मामला सामने आया है.

वहीं कोरोना के बढ़ते मामलों पर सीएम गहलोत ने भी हाल में चिंता जताते हुए कहा था कि दिल्ली समेत कुछ जगहों पर बीते दिनों में कोविड के मामले बढे़ हैं. दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट 5% से भी अधिक हो गई है ऐसे में कोविड के बढ़ते मामलों के कारण अतिरिक्त सावधानी बरतने की आवश्यकता है.

वैक्सीनेशन ने फिर पकड़ी रफ्तार

जयपुर के पिछले एक हफ्ते को देखें तो राजधानी में कुल 89 नए मामले सामने आए हैं. वहीं स्वास्थ्य अधिकारी लोगों को कोविड टीका लगवाने के लिए लगातार प्रोत्साहित कर रहे हैं. आंकड़ों के मुताबिक मंगलवार शाम 5.30 बजे तक राज्य में खुराक लेने वालों की संख्या 55,917 थी जबकि 18-59 आयु वर्ग के लिए बूस्टर डोज की संख्या बढ़कर 2,176 हो गई है जिसमें 277 और व्यक्तियों को शाम 5.30 बजे तक निजी अस्पतालों में बूस्टर डोज लगावाया गया. एक स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि वैक्सीनेशन अभियान 30 अप्रैल तक चलेगा जिसके लिए लोगों को प्रोत्साहित कर रहे हैं.

गौरतलब है कि दिल्ली-एनसीआर के इलाकों में कोरोना काफी तेजी से फिर गति पकड़ रहा है. इस बार कोरोना की चपेट में सबसे ज्यादा बच्चे आ रहे हैं. दरअसल, देश में कोरोना की तीसरी लहर कमजोर पड़ने के बाद ही बच्चों का स्कूल खोला गया था जिसके बाद बच्चों के संक्रमित होने के मामले तेजी से सामने आने लगे.

Similar Posts