Punjab: सैनिक स्कूल में रैगिंग से मचा बवाल, छात्रों ने सुनाई आपबीती, कहा- दिनभर में 6-7 थप्पड़ मारते थे, कपड़े भी धुलवाए

School Class

पंजाब (Punjab) के कपूरथला में सैनिक स्कूल में कक्षा 11 के कुछ छात्रों द्वारा रैंगिंग का मामला सामने आया है. छात्रों द्वारा आठवीं कक्षा के तीन छात्रों की पिटाई का आरोप सामने आने के बाद पीड़ित छात्रों के माता-पिता ने दावा किया है कि स्कूल में जूनियर छात्रों की पिटाई और उन्हें थप्पड़ मारना आम बात है. पैरेंटस के इन आरोपों के बाद बवाल मच गया है और इसकी जांच शुरू हो गई है. मामले को लेकर अब कपूरथला के डिप्टी कमिश्नर ने एसडीएम को सैनिक स्कूल में रैगिंग (Ragging) के कथित मामले में 10 दिनों के भीतर रिपोर्ट देने को कहा है.

‘इंडियन एक्सप्रेस’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, माता-पिता ने कहा कि स्कूल में सीनियर्स के लिए जूनियर्स को थप्पड़ मारना और पीटना एक आम बात है और उन्हें ऐसा करने की आदत सी हो गई है. शिकायत कर रहे माता-पिता ने बताया कि सीनियर छात्र जूनियर छात्रों को शिक्षकों या माता-पिता से शिकायत करने पर कड़ी सजा की धमकी भी देते हैं. हालांकि इस मामले पर स्कूल के अधिकारियों ने कहा कि उन्हें कक्षा 8 के तीन छात्रों के माता-पिता से कोई लिखित शिकायत नहीं मिली है, जिन्हें कथित तौर पर कक्षा 11 के कुछ छात्रों ने पीटा था.

स्कूल अधिकारियों ने शुरू की जांच

स्कूल प्रबंधन ने कहा कि माता-पिता स्कूल आए थे और मौखिक रूप से ‘रैगिंग’ के बारे में सूचित किया था, जिसके आधार पर स्कूल अधिकारियों ने जांच शुरू कर दी है. सैनिक स्कूल में पढ़ने वाले सातवीं कक्षा के एक छात्र ने बताया कि जिन सीनियर छात्रों को हॉस्टल में अनुशासन बनाए रखने की जिम्मेदारी दी गई है, वे जूनियर्स को बेवजह प्रताड़ित कर अपने अधिकार का दुरुपयोग कर रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘आप इसे रैगिंग कह सकते हैं, जहां शिक्षक अपने अधिकारों का दुरुपयोग करने वाले वरिष्ठ छात्रों पर शायद ही नजर रख रहे हैं.’

‘मुझे दिन में 6-7 बार थप्पड़ मारे जाते हैं’

छात्र ने आरोप लगाते हुए कहा, ‘मुझे दिन में 6-7 बार थप्पड़ मारे जाते हैं. कई बार मुझे उनके कपड़े धोने के लिए कहा गया. इस मामले में अब तक सैनिक स्कूल के प्रिंसिपल कर्नल प्रशांत सक्सेना से संपर्क नहीं किया जा सका है, क्योंकि उन्होंने फोन नहीं उठाया. मामले के सामने आने के बाद कथित तौर पर पिटाई करने वाले तीन में से दो छात्रों का मेडिकल टेस्ट उनके संबंधित जिलों के सिविल अस्पतालों में किया गया.

इस बीच प्रताड़ना का शिकार हुए तीन लड़कों में से एक के माता-पिता ने सोमवार को इस संबंध में डीसी कपूरथला विशेष सारंगल को लिखित शिकायत दी थी. उन्होंने बताया कि स्कूल के बैंड स्टोर रूम में कथित तौर पर तीन लड़कों को बेंत से पीटा गया. छात्रों के घर पहुंचने के बाद माता-पिता को मामले के बारे में पता चला और उन्हें उसकी पीठ, पैर, हाथ और पेट पर चोट के निशान दिखे.

Similar Posts