Pakistan: अनबन के बीच पाकिस्तान के राष्ट्रपति अल्वी से मिले पीएम शहबाज शरीफ, राजनीतिक और आर्थिक स्थिति पर की चर्चा

Arif Alvi Shehbaz Sharif

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री का पदभार संभालने के बाद पहली बार शहबाज शरीफ (Pakistan PM Shehbaz Sharif) ने बुधवार को राष्ट्रपति आरिफ अल्वी से मुलाकात की और संसद में अविश्वास प्रस्ताव के जरिए इमरान खान (Imran Khan) सरकार को हटाने के बाद देश में उभरती राजनीतिक और आर्थिक स्थिति पर चर्चा की. राष्ट्रपति अल्वी (Pakistan President Arif Alvi) ने एक दिन पहले ही नए मंत्रिमंडल के सदस्यों को पद की शपथ दिलाने से इनकार कर दिया था और सीनेट के अध्यक्ष सादिक संजरानी ने उन्हें (मंत्रिमंडल के सदस्यों को) शपथ दिलवाई थी.

मंत्रिमंडल के सदस्यों को सोमवार को शपथ ग्रहण करनी थी, लेकिन राष्ट्रपति अल्वी के उन्हें शपथ दिलाने से इनकार करने के बाद शपथ समारोह स्थगित कर दिया गया था. राष्ट्रपति अल्वी के बीमार होने के बाद प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ को भी पिछले सप्ताह संजरानी ने ही पद की शपथ दिलाई थी. अल्वी, अपदस्थ प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के सदस्य हैं. राष्ट्रपति सचिवालय द्वारा जारी एक बयान के मुताबिक राष्ट्रपति आवास में हुई मुलाकात के दौरान अल्वी और शरीफ ने देश की उभरती राजनीतिक और आर्थिक स्थिति से जुड़े मुद्दों पर चर्चा की है.

15-17 मिनट तक चली बातचीत

सूत्रों के मुताबिक शरीफ ने अल्वी के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली. जियो न्यूज की एक रिपोर्ट के अनुसार यह मुलाकात केवल 15-17 मिनट चली. सूत्रों ने कहा कि अल्वी और शरीफ ने विभिन्न राजनीतिक मुद्दों पर चर्चा की, जिनमें पंजाब के राज्यपाल उमर सरफराज चीमा को हटाने के लिए प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा भेजा गया नोट का मुद्दा भी शामिल है. चीमा ने मुख्यमंत्री हमजा शहबाज को कुछ कानूनी आधारों पर शपथ दिलाने से इनकार कर दिया. हमजा शहबाज प्रधानमंत्री शरीफ के पुत्र हैं.

कैबिनेट की पहली बैठक भी की

इससे पहले प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने पहली कैबिनेट बैठक के बाद कहा था कि पाकिस्तान कर्ज में डूब रहा है और इस नाव को किनारे पर पहुंचाने का काम नई सरकार का है. उन्होंने कैबिनेट की बैठक की अध्यक्षता की और उसे संबोधित करते हुए कहा कि वह इसे युद्ध कैबिनेट मानते हैं क्योंकि यह गरीबी, बेरोजगारी और मुद्रासफीती के खिलाफ लड़ रही है. ये सभी समस्याओं को खिलाफ एक युद्ध है. उन्होंने साथ ही कहा कि पिछली सरकार कई मुद्दों को हल करने में बुरी तरह नाकाम रही है. शरीफ ने कहा कि विचार विमर्श की गहन और निरंतर प्रक्रिया के जरिए गरीब परिवारों को राहत मुहैया करवाई जाएगी. उन्होंने समस्याओं का हल करने के लिए अपनी कैबिनेट के सहयोगियों की क्षमताओं की भी सराहना की है.

Similar Posts