Oral Health: दातों में होती हैं ये तीन तरीके की बीमारियां, नजरअंदाज करना पड़ सकता है भारी

Teeths Checkup

शरीर के अच्छी सेहत के लिए ओरल हाइजीन (Oral Hygiene) का ध्यान रखना भी जरूरी है. ओरल हाइजीन यानी अपने दातों(Teeth) और जीभ की देखभाल सही तरीके से करना. जिसमें रोजाना ब्रश करना और जीभ की सफाई करना शामिल है, लेकिन कई बार देखा जाता है कि लोग दातों की सफाई पर ध्यान नहीं देते हैं. जिसकी वजह सेकैविटी, दांतों का टूटना, मसूढों में संक्रमण और खून आने की परेशानी होने लगती है. कई मामलों में लोग इन परेशानियों को नजरअंदाज भी कर देते हैं, जिससे ओरल हेल्थ खराब हो जाती है. ओरल हेल्थ के बिगड़ने से कैंसर का भी रहता है. ऐसे में यह जानना जरूरी है कि दातों में हो रहे दर्द और मसूढ़ों की समस्या का क्या कारण है.

दातों में होने वाली आम परेशानियों और इनके कारणों के बारे में जानने के लिए Tv9 ने वैशाली के मैक्स हॉस्पिटल के डेंटल विभाग की एचओडी और नियामा केयर की फाउंडर डॉ श्रद्धा मिश्रा से बातचीत की है. डॉ. ने दातों में होने वाली इन परेशानियों को बताया है.

मसूढ़ों की सूजन

डॉ. श्रद्धा के मुताबिक, कई बार लोगों के मसूढ़ों में सूजन आ जाती है. उन्हें इस समस्या के कारणों के बारे में नहीं पता होता और वे घरेलू तरीकों से इसे ठीक करने की कोशिशक करते हैं, लेकिन ऐसा नहीं करना चाहिए. डॉ. के मुताबिक, मसूढ़ों की सूजन, मसूढ़ों की बीमारी का एक हल्का रूप है, दातों के बीच में प्लाक बीच जमा होने से ऐसा होता है. प्लाक दांतों और मसूढ़ों को संक्रमित करता है, जिससे जलन, खून का बहना और सूजन होती है. इसकी वजह से पेरीओडोंटाइटिस की बीमारी भी हो सकती है, जिससे दांत भी झड़ सकते हैं. अगर किसी भी व्यक्ति को मसूढ़ों में सूजन है तो इसे हल्के में नहीं लेना चाहिए. इस स्थिति में दातों के डॉक्टर से संपर्क करें. इससे बचाव के लिए डॉक्टर दातों की गहरी सफाई करते हैं, जिसमें स्केलिंग शामिल है.

दातों में सेंसिटिविटी

ठंडा या गर्म खाना खाते समय दातों में सेंसिटिविटी हो जाती है. इससे जलन हो सकती है या खाने में परेशानी भी होती है. डॉ. ने बताया कि सेंसिटिविटी तब होती है जब दांतों का इनेमल बिगड़ जाता है. ये मसूड़ों और दातों के घिसने की वजह से होती है.इससे बचाव के लिए सीलेंट और फिलिंग की जाती है. डॉ. के मुताबिक, सेंसिटिविटी की समस्या आती जाती रहती है, लेकिन अगर इसका इलाज़ न किया जाए तो ये हमेशा के लिए रह सकती है.

दातों में दर्द

डॉ. के मुताबिक, दातों में दर्द की समस्या काफी आम है. कई बार किसी दुर्घटना में चोट लगने से दातों को भी नुकसान पहुंचता है, जिससे ये दर्द होने लगता है. अगर दातों में दर्द बना हुआ है तो डॉक्टर से इलाज़ करना चाहिए. इस मामले में लापरवाही करने से दात झड़ सकते हैं और इससे काफी परेशानी हो सकती है.

इन तरीकों से अपने दातों को रखें स्वस्थ

डॉ. के मुताबिक, दांतों की इन तीनों समस्या से बचा जा सकता है. इसके लिए जरूरी है कि दिन में दो बार ब्रश करें, कोशिश करें कि रात को खाने के बाद ब्रश कर लें .दातों को घिसे नहीं, माउथवॉस का उपयोग करें. नियमित तौर पर फ्लॉसिंग कराएं. हर दिन संतुलित भोजन करें. नियमित रूप से दांतों की जांच कराएं. धूम्रपान न करें इससे मसूड़े की बीमारी बढ़ सकती है.

Similar Posts