ONGC Recrutiment 2022: ओएनजीसी के CMD के तौर नियुक्त होंगे सैन्य अधिकारी, टॉप पोस्ट पर सेना के अधिकारियों की नियुक्ति पर विचार कर रही सरकार

Ongc

ONGC Post for Military Officers: केंद्र सरकार अपनी ब्लू-चिप कंपनियों में औपचारिक रूप से चीफ एग्जिक्यूटिव पदों पर सीनियर सशस्त्र बल अधिकारियों की नियुक्ति पर विचार कर रही है. इसकी शुरुआत सरकार द्वारा चलाए जाने वाले एनर्जी सेक्टर की दिग्गज कंपनी ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉरपोरेशन (ONGC) से हो सकती है. यहां गौर करने वाली बात ये है कि पब्लिक सेक्टर की कंपनियां भी चार साल सेना में सर्विस करके रिटायर होने वाले ‘अग्निवीरों’ (Agniveer) को अपना यहां नौकरी में तरजीही देने की बात कर रही हैं. इस मामले से परिचित दो अधिकारियों ने इस योजना को लेकर जानकारी दी.

हिन्दुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, सरकार ने इस साल फरवरी में ‘सर्च कम सेलेक्शन कमिटी’ (SCSC) का गठन किया. इसका मकसद ONGC के लिए एक चेयरमैन एंड मैनेजिंग डायरेक्टर (CMD) की नियुक्ति प्रक्रिया को शुरू करना था. अधिकारियों ने आधिकारिक दस्तावेजों का हवाला देते हुए बताया कि पैनल को विशेष रूप से केंद्र सरकार के अधिकारियों पर विचार करने के लिए निर्देशित किया गया है. इसमें ONGC के पदों के लिए सेना के तीनों अंगों के अधिकारी भी शामिल हैं. नाम न बताने की शर्त पर एक अधिकारी ने कहा, ‘इस बीच, पेट्रोलियम मंत्रालय ने CMD, ONGC के पद के लिए एलिजिबिलिटी कंडीशन में कुछ बदलाव किए हैं और सक्षम प्राधिकारी से इस बाबत औपचारिक मंजूरी भी मांगी गई है.’

ONGC में पिछले साल से खाली पड़े पद

वहीं, SCSC की अध्यक्षता ‘पब्लिक एंटरप्राइजेज सेलेक्शन बोर्ड’ (PSEB) की अध्यक्ष मल्लिका श्रीनिवासन कर रही हैं. पेट्रोलियम सचिव पंकज जैन इसके मेंबर हैं. दरअसल, ONGC में पिछले साल से पद खाली पड़े हैं. लेकिन PSEB ने इस पद के लिए कई उम्मीदवारों का इंटरव्यू लिया, मगर उसे एक भी उम्मीदवार इस पद के लिए योग्य नहीं मिल पाया. अधिकारी ने बताया कि यही वजह रही कि सरकार ने SCSC के गठन का फैसला किया. ONGC में टॉप पोस्ट पिछले साल एक अप्रैल से ही खाली पड़ा हुआ है. एक्सपर्ट्स ने सरकार से इस रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण कंपनी के लिए एक प्रमुख की नियुक्ति पर अपने कदम पीछे नहीं लेने की सलाह दी है.

वहीं, जब पेट्रोलियम मंत्रालय, कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग (DoPT) और PSEB से इस बारे में सवाल पूछा गया, तो उन्होंने इस पर कोई टिप्पणी नहीं की. ONGC के दो पूर्व वरिष्ठ अधिकारियों ने नाम न बताने की शर्त पर कहा कि ये पहला मौका है, जब CMD पदों के लिए योग्य उम्मीदवारों के चयन के लिए सशस्त्र बलों के अधिकारियों का जिक्र किया गया है.

Similar Posts