North Korea: तानाशाह किम जोंग के देश में कहर बरपा रहा कोरोना, 1 लाख 74 हजार से ज्यादा नए केस मिले, ‘बुखार’ से 21 लोगों की मौत

Kim Jong

उत्तर कोरिया में कोरोना वायरस महामारी (North Korea Covid-19) बुरी तरह अपना कहर बरपा रही है. दो साल तक संक्रमण से इनकार करने वाले इस देश ने आखिरकार आंकड़े जारी करना शुरू कर दिया है. जिससे पता चलता है कि हालात नियंत्रण से बाहर हो गए हैं. यहां की सरकारी मीडिया ने बताया है कि शनिवार को 1,74,440 अधिक लोगों में बुखार के लक्षण पाए गए हैं. जबकि बुखार से ही 21 लोगों की मौत हो गई है. तानाशाही के बीच जिंदगी बसर कर रही यहां की आबादी को कोरोना वायरस की वैक्सीन (Coronavirus in North Korea) तक नहीं लगी है. शुक्रवार के मामलों को मिलाकर कुल 27 मरीजों की मौत हुई है, जबकि कुल 5,24,440 लोग बीमार पाए गए हैं.

यहां अप्रैल के आखिरी हफ्ते से बड़ी संख्या में लोगों को बुखार होना शुरू हुआ था और इसका आंकड़ा अब बढ़ता ही जा रहा है. उत्तर कोरिया का कहना है कि 2,43,630 लोग बीमारी से ठीक हो गए हैं, जबकि 2,80,810 लोगों को अब भी क्वारंटीन में रखा गया है. सरकारी मीडिया ने ये नहीं बताया कि बुखार और मौत के मामलों में से कितने कोविड-19 संक्रमण के हैं. पहला मामला सामने आने के बाद संक्रमण से घबराकर किम जोंग उन ने गुरुवार को देशभर में लॉकडाउन लगाने का ऐलान कर दिया था.

संक्रमण से घबराए किम जोंग क्या बोले?

उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन ने शनिवार को वायरस के खिलाफ अपनाई जाने वाली रणनीतियों को लेकर बैठक की थी, जिसमें उन्होंने वायरस को ऐतिहासिक रूप से ‘बड़ा व्यावधान’ बताया. साथ ही संक्रमण को रोकने के लिए सरकार और लोगों के बीच एकता का आह्वान किया. विशेषज्ञों का कहना है कि अगर उत्तर कोरिया कोविड-19 को फैलने से रोकने में नाकाम रहा, तो उसे विनाशकारी परिणामों का सामना करना पड़ेगा. देश का स्वस्थ्य ढांचा बहुत कमजोर है और 2.6 करोड़ की आबादी बड़े पैमाने पर बिना वैक्सीन लगवाए रह रही है.

ओमिक्रॉन वेरिएंट से संक्रमित हो रहे लोग

सरकारी मीडिया का कहना है कि देश की राजधानी प्योंगयांग में बुखार के लक्षण वाले लोगों के रविवार को सैंपल लिए गए थे. उसने कहा कि ये लोग ओमिक्रॉन वेरिएंट से संक्रमित हैं. हालांकि लोगों की संख्या नहीं बताई गई है. वहीं उत्तर कोरिया ने ओमिक्रॉन से मरने वाले मरीज की संख्या सिर्फ एक बताई है. वो बाकी मौतों के पीछे का कारण बुखार को बता रहा है. ऐसा भी कहा जा रहा है कि हाल ही में 25 अप्रैल को उत्तर कोरिया में परेड का आयोजन हुआ था. जिसमें बड़ी संख्या में नागरिक और सैनिक शामिल हुए थे. ऐसा हो सकता है कि इस दौरान वायरस लोगों के बीच तेजी से फैल गया हो. किम जोंग ने इस दिन स्टेज के बीच में खड़े होकर अपने सैन्य परमाणु कार्यक्रम की सबसे शक्तिशाली मिसाइलों का प्रदर्शन किया था.

Similar Posts