भारतीय टीम के पूर्व ऑलराउंडर खिलाड़ी युवराज सिंह ने पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को लेकर एक बड़ा खुलासा किया है. युवराज का कहना है कि बतौर भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने मिडिल ऑर्डर बल्लेबाज सुरेश रैना को ज्यादा मौके दिए. सुरेश रैना और युवराज सिंह दोनों ही भारत की 2011 विश्व कप विनिंग टीम का हिस्सा थे और उस समय भारतीय टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी थे.

एमएस धोनी ने अपने फेवरेट क्रिकेटरों को दिए ज्यादा मौके, युवराज सिंह का बड़ा बयान
युवराज ने खुलासा किया कि श्रीलंका के विरुद्ध 2011 वर्ल्ड कप फाइनल के दौरान रैना और यूसुफ पठान में किसी एक को चुनने पर काफी माथापच्ची हुई थी. युवराज ने कहा- सुरेश रैना के पीछे बड़ी सपोर्ट थी, क्योंकि धोनी हमेशा उनका समर्थन करते थे. हर कप्तान का एक पसंदीदा खिलाड़ी होता है और मुझे लगता है कि माही ने उस समय कप्तान के तौर पर सुरेश रैना को ज्यादा मौका दिया.

युवराज ने आगे कहा- यूसुफ पठान अच्छा प्रदर्शन कर रहा था और यहां तक कि मैं भी अच्छी फॉर्म में था और विकेट भी ले रहा था. उस समय सुरेश रैना अच्छी लय में नहीं था. उस समय हमारे पास लेफ्ट आर्म स्पिनर नहीं था और मैं विकेट ले रहा था. इसीलिए उनके पास मुझे चुनने के अलावा कोई विकल्प नहीं था. सुरेश रैना धोनी की कप्तानी में लगातार खेले थे. लेकिन जैसे ही भारतीय टीम की कप्तानी विराट कोहली को मिली तो सुरेश रैना अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से दूर होते चले गए. रैना ने जुलाई, 2018 के बाद से भारतीय टीम के लिए कोई भी मैच नहीं खेला है.

क्रिकेट की अन्य खबरें

लिंक कॉपी हो गया