गले में खराश हो या खांसी, मुलेठी चूसने से इसमें राहत मिलती है इसके अलावा भी मुलेठी में कई ऐसे गुण हैं, जो शायद आप पहले नहीं जानते होंगे जानिए मुलेठी आपको किस प्रकार लाभ पहुंचा सकती है मुलेठी बहुत गुणकारी औषधि है मुलेठी के प्रयोग करने से न सिर्फ आमाशय के विकार बल्कि गैस्ट्रिक अल्सर के लिए फायदेमंद है इसका पौधा 1 से 6 फुट तक होता है यह स्‍वाद में मीठी होती है. इसलिए इसे यष्टिमधु भी कहा जाता है असली मुलेठी अंदर से पीली, रेशेदार एवं हल्की गंधवाली होती है सूखने पर इसका स्‍वाद अम्‍लीय हो जाता है मुलेठी को मुँह में रखने से ये 3 बीमारियां, ठीक हो जाएगी जानिए इसके फायदे ।
मुलेठी को मुँह में रखने से ये 3 बीमारियां ठीक हो जाएगी,जानिए इसके फायदे

1.आंखों की रोशनी बढ़ाए

नियमित रूप से मुलेठी का सेवन करने से न सिर्फ बीमारियों से मुक्ति मिलती है बल्कि बीमारियां आपसे कोसों दूर रहती हैं मुलेठी का चूर्ण अमृत की तरह काम करता है यह आंखों के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है सुबह तीन ग्राम चूर्ण खाने से आंखों की रोशनी भी बढ़ती है।

2.भूख बढ़ाए

बलवर्धक, रक्तस्राव, घाव, सूजन, विषवमन सहित क्षय रोगों का नाश करने वाला मुलेठी का सेवन करने से भूख भी खुल जाती हैं। जिन लोगों को भूख नहीं लगती या बहुत कम लगती हैं। उन लोगों को मुलेठी के एक छोटे से टुकड़े को मुंह में रखकर दिन में 3-4 बार चूसना चाहिए।

3.गले में खराश दूर करें

गले में खराश के लिए भी मुलेठी का प्रयोग किया जाता है मुलेठी के चूर्ण को पान के पत्ते में रखकर खाने से बैठा हुआ गला ठीक हो जाता है या गले के दर्द और सूजन से राहत पाने के लिए सोते समय मुलेठी के 2-3 छोटे टुकड़ों को मुख में रखकर कुछ देर चबाते रहे फिर वैसे ही मुंह में रखकर जाएं प्रातः काल तक गला साफ हो जायेगा।

लाइफ स्टाइल की अन्य खबरें

लिंक कॉपी हो गया