सरकारी अस्पतालों में लापरवाही की बानगी बुधवार रात खुलकर सामने आई जब अरांई के राजकीय सामुदायिक चिकित्सा केंद्र पर गम्भीर हालत में महिला मरीज उपचार के लिए अस्पताल पहुंची तो चिकित्सा कार्मिक अस्पताल का मुख्य दरवाजा अंदर से बंद कर सोते मिले। मरीज की परिजन ने काफी देर तक अस्पताल का चैनल गेट खटखटाया और आवाजें दी। 
वहीं डॉक्टर को फोन भी किया लेकिन रिसीव नहीं किया। थक हारकर परिजन मरीज को लेकर किशनगढ़ के लिए रवाना हुए। जहां उसे भर्ती कराया गया। इधर मरीज के परिजन ने जिला पुलिस अधीक्षक को वाट्सएप पर बंद अस्पताल का फोटो भेजकर गुहार लगाई। एसपी ने तत्काल अरांई थानाधिकारियों को निर्देश दिए। 
इस पर थाने से पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे और चिकित्सा कर्मिकों को आवाजें देकर दरवाजा खुलवाया। इधर थनाधिकारी का कहना है कि बुधवार रात करीब नौ बजे वाट्सएप पर वीडियो वायल होने पर पुलिसकार्मिकों को अस्पताल भेजा। जहां चैनलगेट भिड़ा मिला। अस्पताल कार्मिकों बाहर गार्ड तैनात करने को कहा ताकि कोई मरीज गेट बंद समझ नहीं लौटे।

अजब गजब की अन्य खबरें

लिंक कॉपी हो गया