दिन भर की भागदौड़ या शरीर के लगातार काम करने से आपको आराम नहीं मिल पाता है, और इससे आपको थकान महसूस होती है। लेकिन कई लोगों में थकान, तनाव व जिम्‍मेदारियों भी होता है। थकान को दूर भगाने के लिए कुछ लोग सिगरेट पी लेते है, और कुछ लोग चाय या कॉफी पी लेते है। और तो और कुछ लोग थकान के कारण होने वाले शरीर में दर्द के कारण पेनकिलर का सहारा लेते हैं। लेकिन इस तरह से थकान को दूर करने से सेहत को नुकसान हो सकता है। थकान को दूर करने के लिए आप कुछ घरेलू उपायों को भी अपना सकती है।

# हमारे शरीर में प्राकृतिक रूप से बीमारियों से लड़ने की ताकत होती है, जिसे हमारे शरीर की रोगप्रतरोधक क्षमता भी कहा जाता है। इसके बल पर हमारा शरीर बगैर किसी बाहरी सहायता के बीमारियों से लड़ सकता है। पर जब यही ताकत कमज़ोर हो जाती है, तो व्यक्ति बीमार हो जाता है और उसे दवाइयाँ लेने की ज़रुरत पड़ती है। इसलिए रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए पौष्टिक भोजन का सेवन करना लाभदायी माना जाता है।

# अगर आप थकान से लड़ने के लिए अपने शरीर को मजबूत बनाना चाहते हैं तो नियमित रूप से नाश्‍ता करना कभी न भूलें। सुबह का किया हुआ नाश्‍ता आपके शरीर को पूरे दिन एनर्जी देता है। ऐसा नाश्ता करें, जिसमें प्रोटीन और फाइबर की मात्रा अधिक और शूगर व वसा की मात्रा कम हो। नाश्‍ते में फल, स्‍प्राउट आदि को शामिल करें।

# हर्बल ड्रिंक जैसे ग्रीन टी, आंवला या एलोवेरा जूस को पीने से शरीर में एनर्जी बनी रहती है और शरीर को थकान से लड़ने में मदद मिलती है। साथ ही नियमित इसे पीने से वजन कंट्रोल रहता है और मसल्‍स पेन में भी आराम मिलता है।

# हमारे शरीर की कार्य प्रणाली को सुचारू रूप से चलाने के लिए व्यक्ति को भरपूर नींद लेना ज़रूरी होता है। पूरी नींद लेने से शरीर और मस्तिष्क दोनों को आराम मिलता है और काम करने की ऊर्जा बनी रहती है।

# कहते हैं ना, हमारे शरीर को चलनेवाला हमारा मस्तिष्क है। सोचिए, अगर तनाव की वजह से इसके कामकाज पर असर हो, तो क्या हमारा शरीर सुचारू रूप से चल पाएगा? नहीं ना , तो सबसे पहले अपने मस्तिष्क के स्वास्थ्य का ख्याल करें।

# रोज़ाना प्राणायाम व मेडिटेशन करें। इससे हमारे मस्तिष्क की नसों को आराम मिलता है और मस्तिष्क में ऑक्सीजन की पूर्ती होती है।

# थकान दूर करने में पानी की महत्त्वपूर्ण भूमिका होती है। शरीर में पानी की कमी होने से ज्यादा थकान महसूस होती है। इसलिए पर्याप्‍त मात्रा में पानी पीना चाहिए। इसके अलावा गर्म पानी की बोतल से सिंकाई करने से प्रभावित अंग के दर्द में आराम मिलेगा और थकान भी दूर होती है।

लाइफ स्टाइल की अन्य खबरें

लिंक कॉपी हो गया