सीताफल एक बड़ा ही स्‍वादिष्‍ट फल है लेकिन लोग इसके बारे में थोड़ा कम जानकारी रखते हैं। सीताफल अगस्त से नवम्बर के आस-पास आने वाला फल है। अगर आयुर्वेद की बात माने तो सीताफल शरीर को शीतलता पहुंचाता है।इसमें कैल्शिम और फाइबर जैसे न्यूट्रिएंट्स भरपूर मात्रा में होते है जो पित्तशामक, तृषाशामक, उलटी बंद करने वाला, पौष्टिक, तृप्तिकर्ता, कफ एवं वीर्यवर्धक, मांस एवं रक्तवर्धक, बलवर्धक, वातदोषशामक एवं हृदय के लिए बहुत ही लाभदायी होता है।

# सीताफल में विटामिन बी6 होता है, जो दिमाग को तेज करता है और ब्रैन को फ्रैश रखता है। इस फल में मैग्नीशियम मौजूद होता है, जो हार्ट प्रॉबल्स को दूर करता है। इसलिए हार्ट के मरीजों को सीताफल का सेवन करना चाहिए।

# हाई या कम ब्लड प्रैशर के मरीजों को सीताफल का सेवन करना चाहिए। इसमें ब्लड प्रैशर को केट्रोल करना वाला तत्व पौटेशियम होता है। सीताफल में भरपूर मात्रा में फाइबर होता है, जो डाइजेशन के लिए सहायक माना जाता है।

# इस फल में मौजूद आयरन और कॉपर शरीर में खून की कमी को पूरा करता है। सीताफल खाने से ब्लड शुगर का लेवन कम होता है, जिससे डायबिटीज की समस्या से बचा जा सकता है।

# इसके बीज को बकरी के दूध के साथ पीसकर लेप करने से सिर के उड़े हुए बाल शीघ्र ही उग आते हैं और मस्तिष्क में ठंढक पहुंचती है।

सेहत की अन्य खबरें

लिंक कॉपी हो गया