चीन की सरकारी मीडिया ने चिकित्साकर्मियों की मास्क उतारने के बाद की तस्वीरों शेयर की। देखते ही देखते ये फोटोज सोशल मीडिया पर वायरल हो गईं।
मरीजों की देखभाल में लगी नर्सों के चेहरे का खौफनाक हाल हो गया। उनके चेहरे पर लंबे समय तक मेडिकल मास्क पहने रहने की वजह से गहरे निशान बने गए। इन तस्वीरों को देखकर लोगों का दिल पसीज गया है।मरीजों की देखभाल में लगी नर्सों के चेहरे का खौफनाक हाल हो गया। उनके चेहरे पर लंबे समय तक मेडिकल मास्क पहने रहने की वजह से गहरे निशान बने गए। इन तस्वीरों को देखकर लोगों का दिल पसीज गया है।
कोरोनावायरस रोगियों के इलाज के लिए चीन कई आपातकालीन सुविधाओं के साथ डॉक्टरों और नर्सों की ड्यूटी लगाई है। इन नर्सों के जज्बे और हिम्मत को लोग सलाम कर रहे हैं। हर कोई उनके सेवाभाव को देख अभिभूत नजर आया।कोरोनावायरस रोगियों के इलाज के लिए चीन कई आपातकालीन सुविधाओं के साथ डॉक्टरों और नर्सों की ड्यूटी लगाई है। इन नर्सों के जज्बे और हिम्मत को लोग सलाम कर रहे हैं। हर कोई उनके सेवाभाव को देख अभिभूत नजर आया।
चिकित्सा कर्मचारियों की देश की उच्च मांग है और देश के रक्षाकर्मी इस संकट की घड़ी में उनकी मदद करने के लिए आगे आ गए हैं। SARS (सार्स) और इबोला वायरस के इलाज में अनुभव रखने वाले कई सैन्य डॉक्टरों और नर्सों को कोरोना वायरस के मरीजों के इलाज के काम में लगाया गया है।चिकित्सा कर्मचारियों की देश की उच्च मांग है और देश के रक्षाकर्मी इस संकट की घड़ी में उनकी मदद करने के लिए आगे आ गए हैं। SARS (सार्स) और इबोला वायरस के इलाज में अनुभव रखने वाले कई सैन्य डॉक्टरों और नर्सों को कोरोना वायरस के मरीजों के इलाज के काम में लगाया गया है।
बताते चलें कि चीन में इस खतरनाक जानलेवा कोरोना वायरस की वजह से मरने वालों की संख्या बढ़कर 1 हजार से ऊपर हो गई है। एक दिन में इस वायरस से मरने वालों की संख्या में इजाफा हुआ है ये संख्या 200 पार कर गई है। अब तक कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की कुल संख्या 45 हजार से ज्यादा बताई जा रही है।बताते चलें कि चीन में इस खतरनाक जानलेवा कोरोना वायरस की वजह से मरने वालों की संख्या बढ़कर 1 हजार से ऊपर हो गई है। एक दिन में इस वायरस से मरने वालों की संख्या में इजाफा हुआ है ये संख्या 200 पार कर गई है। अब तक कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की कुल संख्या 45 हजार से ज्यादा बताई जा रही है।
बता दें कि कोरोना वायरस की उत्पत्ति चीन के वुहान शहर से बताई गई है। इस वायरस ने अब भयंकर रूप ले लिया है। इस वायरस के शुरुआती लक्षण की बाच करें तो मामूली ठंड, खांसी, छींकना और बुखार है। इस वायरस का अभी तक कोई इलाज नहीं मिल पाया है। ऐसे में सावधानी ही इसका इलाज बताया जा रहा है। वायरस के कुछ केस चीन के अलावा अमेरिका, फ्रांस, भारत, पाकिस्तान और कनाडा में भी नजर आए हैं।बता दें कि कोरोना वायरस की उत्पत्ति चीन के वुहान शहर से बताई गई है। इस वायरस ने अब भयंकर रूप ले लिया है। इस वायरस के शुरुआती लक्षण की बाच करें तो मामूली ठंड, खांसी, छींकना और बुखार है। इस वायरस का अभी तक कोई इलाज नहीं मिल पाया है। ऐसे में सावधानी ही इसका इलाज बताया जा रहा है। वायरस के कुछ केस चीन के अलावा अमेरिका, फ्रांस, भारत, पाकिस्तान और कनाडा में भी नजर आए हैं।

अजब गजब की अन्य खबरें

लिंक कॉपी हो गया