गर्भावस्था के दौरान एसिडिटी और सीने में जलन की समस्या बहुत आम बात होती है। हालांकि, कुछ सावधानी बरतकर प्रेगनेंट महिलाएं ऐसिडिटी की समस्या से खुद को बचाए रख सकती हैं। गर्भावस्था के दौरान होने वाली एसिडिटी की समस्या से बचने के लिए कुछ सरल और खास सुझावों पर गौर करें और इन सुझावों को जरूर अपनाएं…
1. सोते समय बेड पर अपने सिर को छह इंच से अधिक ऊंचा न रखें। ऐसा इसलिए, क्योंकि पेट की गैस ऊपर की तरफ भोजन-नली में पहुंच जाएगी, जिससे आपको अधिक समस्या हो सकती है। ऐसे में तकिया बहुत ऊंचा न रखें।
2. देर रात खाने से बचें। रात में खाते ही बिस्तर पर सोने न चली जाएं। सुनिश्चित करें कि आप अपने भोजन और सोने के समय के बीच कम से कम तीन घंटे का अंतर बनाए रखेंगी।
3. चाय या कॉफी अधिक पीने से बचें। ये पेय पदार्थ हार्ट बर्न को बढ़ाने में मदद करते हैं। इन्हें ट्रिगर फूड्स के तौर पर भी जाना जाता है, क्योंकि चाय-कॉफी आपके दिल की धड़कनों को तेज करते हैं। इसलिए, आहार से इन पेय पदार्थों को हटाने में कुछ भी बुराई नहीं है।

4. खुद से प्रेगनेंसी में ओटीसी एंटासिड्स लेने से बचें। इस दौरान बाउल फंक्शन में समस्या होना आम बात है। बिना अपने डॉक्टर से परामर्श किए एंटासिड्स दवाइयों का सेवन न करें।

5. इन दिनों हेवी मील लेने से बचें। एक समय में बहुत ज्यादा न खाएं। इसकी बजाय छोटे-छोटे भोजन करें। कम खाएं, लेकिन जल्दी-जल्दी गैप में खाएं। यदि आप तीन टाइम अधिक खाना खाती हैं, तो इसकी बजाय छह मिनी मील्स लें। साथ ही फ्लूड्स का इनटेक भी बढ़ाएं, इससे आप एसिडिटी की समस्या से बची रहेंगी।

सेहत की अन्य खबरें

लिंक कॉपी हो गया