MMS लीक कांड: वॉशरूम जाने में डर रही छात्राएं, पुलिस तलाश रही हिडन कैमरे

एक छात्र ने कहा, ‘वह वॉर्डन कहां है जिसने कहा था कि प्रोब्लम तुम्हारे कपड़ों में है न कि वीडियोज में.उसने कहा था कि तुम्हारे कपड़ों में दिक्कत हैं जिसकी वजह से लड़के अश्लील वीडियो बनाते हैं.’

यूनिवर्सिटी के बाहर खड़े छात्र

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में एमएमएस लीक मामला सामने आने के बाद अब छात्राएं यूनिवर्सिटी परिसर में वॉशरूम इस्तेमाल करने में डर रही है.एक ओर जहां छात्रों ने प्रदर्शन वापस लिया है वहीं यूनिवर्सिटी ने 24 सितंबर तक क्लासेस बंद रखने का निर्देश जारी किया है. ऐसे में कई छात्र-छात्राएं अपने घर वापस लौट रहे हैं. छात्रों ने आरोप लगाया है कि आरोपी छात्रा ने 60 से ज्यादा छात्राओं का अश्लील वीडियो बनाकर अपने बॉयफ्रेंड को भेजा है. यह भी आरोप है कि इनमें से कुछ वीडियो सोशल मीडिया और पॉर्न वेबसाइट पर अपलोड किए गए हैं.

हालांकि पुलिस ने इन आरोपों को खारिज करते हुए कहा है कि लड़की ने अपना वीडियो बनाकर बॉयफ्रेंड के साथ शेयर किया था. पुलिस ने बताया कि आरोपी छात्रा के मोबाइल से उन्हें किसी और छात्रा का वीडियो नहीं मिला है. उन्होंने कहा कि अफवाहों की वजह से छात्र पैनिक हो गए और प्रदर्शन किया.

हॉस्टल में डरीं हैं छात्राएं

विरोध प्रदर्शन के दौरान कुछ छात्राओं ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि अब उन्हें कैंपस में वॉशरूम इस्तेमाल करने में डर लग रहा है. इस दौरान पुलिस भी हॉस्टल में हिडन कैमरे ढूंढ रही है. एक छात्रा ने कहा, ‘जो छात्राएं हॉस्टल में रह रही हैं, जाहिर है कि वह डरीं होंगी.’ छात्रा ने आरोप लगाया कि यूनिवर्सिटी प्रशासन ने पुलिस को रिश्वत दी है इसी वजह से पुलिस सपोर्ट नहीं कर रही.

एन अन्य छात्र ने कहा, ‘पुलिस के बयानों में कोई तारतम्यता नहीं है. अगर छात्रा ने केवल अपना वीडियो बनाकर भेजा था तो वह लॉक अप में क्यों है? उनका स्टेटमेंट कोई सेंस नहीं बना रहा है. हम चाहते हैं कि क्लासेस फिर से शुरू हो, हम चाहते हैं कि सब पहले जैसा नॉर्मल हो जाए. साथ ही हम यह भी चाहते हैं कि हमें गुमराह न किया जाए.’

वॉर्डन की वजह से समय पर नहीं हुआ एक्शन

एक अन्य प्रदर्शनकारी छात्र ने हॉस्टल की वॉर्डन पर सवाल उठाते हुए कहा कि, ‘वह वॉर्डन कहां है जिसने कहा था कि प्रोब्लम तुम्हारे कपड़ों में है न कि वीडियोज में.उसने कहा था कि तुम्हारे कपड़ों में दिक्कत हैं जिसकी वजह से लड़के अश्लील वीडियो बनाते हैं. उसी वॉर्डन की वजह से ही गर्ल्स हॉस्टल की छात्राएं अपनी परेशानी यूनिवर्सिटी अथॉरिटी को नहीहं बता पायीं’

ये भी पढ़ें



यूनिवर्सिटी प्रशासन ने इस पर कहा कि उन्होंने पुलिस में एफआईआर दर्ज की है. जिससे छात्र संतुष्ट हैं. स्टूडेंट वेलफेयर के डायरेक्टर अरविंदर सिंह कंग ने कहा, ‘क्या आपको सोशल मीडिया पर कोई एमएमएस मिला? नहीं क्योंकि वह है ही नहीं. किसी की इस मामले में मौत नहीं हुई है, न ही किसी ने सुसाइड की कोशिश की है. यह जांच का विषय है कि यह अफवाहें कैसे फैलीं.’

Leave a Reply

Your email address will not be published.